पत्‍थरबाजों पर अब्‍दुल्‍ला के बयान से भड़की मुस्‍लिम महिला, बोली- यही काटेंगे इन्‍हें तब मोदी…

श्रीनगर। फारुक अब्दुल्ला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान की आलोचना की है। जिसमें उन्होंने कश्मीर के गुमराह युवकों से पर्यटन और आतंकवाद में से किसी एक को चुनने की बात कही थी। नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) के अध्यक्ष फारुक अब्दुल्ला ने बुधवार को कहा कि कश्मीर के युवा देश के लिए पत्थर फेंक रहे हैं। उन्होंने पत्थरबाजों का तारीफ करते हुए कहा कि जो लोग पत्थर फेंक रहे हैं वे राष्ट्रहित की जंग लड़ रहे हैं।

अभी अभी: योगी सरकार में भाजपा के इस बड़े नेता की गोली मारकर हत्या, मचा हडकंप

फारुक ने कहा, मैं मोदी साहब को बताना चाहता हूं कि इसमें कोई शक नहीं कि पर्यटन हमारी जिंदगी है लेकिन पथराव करने वालों के पास पर्यटन को बिगाड़ने के लिए कुछ नहीं है। वे भूखे रहेंगे लेकिन देश के लिए पथराव करेंगे और यही हमें समझने की जरूरत है।’

कश्मीर के गुमराह युवकों को संदेश देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार (2 अप्रैल) को कहा कि ‘40 साल के रक्तपात’ से किसी का फायदा नहीं हुआ और युवाओं को राज्य के विकास एवं भलाई के लिए आतंकवाद के मुकाबले पर्यटन को तवज्जो देना चाहिए।

उन्होंने कहा था, ‘पिछले 40 वर्षों में बहुत रक्तपात हुआ है। मेरी अपनी घाटी खून से लथपथ रही है, मेरे प्यारे कश्मीरी युवाओं, मेरे हिंदुस्तान के प्यारे युवाओं।।इस रक्तपात से किसी का फायदा नहीं हुआ है।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर कश्मीर के लोगों ने उसी 40 वर्षों को पर्यटन के विकास के लिए समर्पित किया होता तो आज यहां विश्व स्तर का पर्यटन होता।

फासीवाद से लड़ने की अपील की

नेशनल कांफ्रेंस (एनसी) के अध्यक्ष फारुक अब्दुल्ला ने मंगलवार को दावा किया कि जम्मू और कश्मीर की दो सीटों पर होने जा रहे लोकसभा उप-चुनाव लोगों के लिए देश भर में फासीवाद और क्रूरता की लहर के खिलाफ लड़ने का एक मौका है।

फारुक ने दावा किया कि यह चुनाव फासीवाद और गरिमा के बीच टिके रहने की जंग है, जिसमें एक तरफ भाजपा का सांस्कृतिक एवं अत्याचारी हमला है और दूसरी तरफ कश्मीरियों का सामूहिक सम्मान और उनकी प्रतिष्ठा है।

मुस्‍लिम महिला का जवाब

इस बयान पर एक मोदी भक्‍त मुस्‍लिम महिला ने बिना किसी देरी के बयान दे दिया है। महिला ने कहा है कि ये महाशय बुढ़ापे का शिकार हो गए हैं। यही वजह है कि ये फालतू बातों का जिक्र कर रहे हैं। इनकी बातों से देश के मुस्‍लिम समाज पर असर जरूर पड़ता है पर इतना ही किसी की सोंच को बदलने के लिए काफी नहीं है। मोदी जी अच्‍छा काम कर रहे हैं और लोग उनके साथ हैं। जिनको ये बढ़ावा दे रहे हैं, आने वाले समय में यही इनका घर तोड़ेंगे।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button