पत्नी को पहले शॉपिंग करवाई फिर बाजार से लौटते वक्त मार दी गोली

gun-55eeffc5e48fa_exlstकन्नौज के तालग्राम रोड स्थित ग्राम बहवलपुर में फौजी ने पत्नी की गोली मार कर हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर हत्या में प्रयुक्त तमंचा भी बरामद कर लिया है। मृतका के भाई ने आरोपी फौजी व उसके भाई के खिलाफ दहेज हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है।

ग्राम बहवलपुर निवासी प्यारेलाल शाक्य की पुत्री अजिता सिंह उर्फ पिंकी (32) की शादी तालग्राम थाना क्षेत्र के पंडन नगला निवासी ओमवीर सिंह के साथ 13 जून 2012 को हुई थी। पिछले कुछ दिनों से पारिवारिक विवाद की वजह से पिंकी अपने मायके रहने लगी। सेना में कार्यरत ओमवीर सिंह 22 सितंबर को बहवलपुर पहुंचा।

गुरुवार को पत्नी को साथ लेकर कानपुर गया। आरोप है कि रात करीब 11 बजे घर लौटते वक्त गांव के बाहर फौजी ने पिंकी को गोली मार दी। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही तमंचा भी बरामद कर लिया।

बड़ी बहन सुधा ने बताया कि मृतका अजिता सिंह उर्फ पिंकी अपने पति ओमवीर सिंह और उसके बड़े भाई जसवीर से काफी परेशान रहती थी। उसका पति दो बीघा जमीन की मांग करता था।

 

मृतका ने अपने पति के खिलाफ 63 राष्ट्रीय रायफल बटालियन मार्फत 56 सेना डाक सेवा झांसी को छह पेज का हस्तलिखित शिकायतीपत्र भेजा था। जिसमें उसने अपने पति के अलावा अपने जेठ पर बदनीयती का आरोप लगाया था।

उसने उस पत्र में अपने पति पर स्वयं की हत्या कर देने की भी आशंका जताई थी। इसके अलावा उसने अपना और अपनी डेढ़ वर्षीय पुत्री का नाम पति के विभागीय अभिलेखों में दर्ज कराने की भी गुहार लगाई थी।

ग्राम बहवलपुर निवासी अजिता सिंह उर्फ पिंकी काफी मेधावी थी। वह शिक्षिका बनकर सेल्फडिपेंट होना चाहती थी। उसने एमए, बीएड के साथ पिछले दिनों टीईटी की परीक्षा भी दी थी। उसके पिता की काफी पहले मौत हो गई थी। वह तीन बहनें और चार भाई हैं।

पिंकी की बड़ी बहन सुधा ने बताया उसकी बहन पति के साथ ही रहना चाहती थी, लेकिन वह उसे अपने साथ नहीं रखते थे। पिछले डेढ़ वर्ष से उसकी बहन मायके में रहकर अपनी पढ़ाई की तैयारी कर रही थी।

 

पुलिस हिरासत में बैठे पत्नी की हत्या के आरोपी फौजी ओमवीर ने बताया वह बिनागुड़ी पश्चिम बंगाल में तैनात है। 20 सितंबर को 20 दिन की छुट्टी पर घर आया था। उसके ससुराल वाले नहीं चाहते थे कि उसकी पत्नी उसके साथ रहे।
उसकी बहनें और साढ़ू उसकी पत्नी को गुमराह करते रहते थे।

परेशान होकर इस वर्ष उसने हाईकोर्ट में हेबियस कार्पस रिट दायर की थी। उसने रोते हुए बताया कि वह गुरुवार को अपनी पत्नी को कानपुर ले गया था। वहां उन लोगों ने शॉपिंग की। देर रात वह लोग वापस लौटे। पैदल ससुराल जा रहे थे।

तभी रास्ते में बाइक सवारों ने उसकी पत्नी के गोली मारकर हत्या कर दी। उसके ऊपर पत्नी की हत्या का झूठा आरोप लगाकर फंसाया गया है।

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button