पति-पत्नी के रिलेशनशिप को खराब करता है ग्रीनआई मॉन्स्टर

2_1443776067पति-पत्नी के रिश्ते में प्यार और तकरार होना आम बात होती है। आमतौर पर जब पति किसी महिला से बहुत खुश होकर बात करते हैं तो ज्यादातर पत्नियों को अच्छा नहीं लगता। ऐसे ही अधिकांश पति भी अपनी पत्नी के मुंह से पुरुष मित्रों की तारीफ़ें सुनकर जल-भुन जाते हैं। इसके अलावा पति या पत्नी में किसी एक का सबके बीच लोकप्रिय होना, सबका अट्रैक्शन बनना, ज़्यादा सैलरी पाना जैसी कई बातें ईर्ष्या का कारण बनती हैं। साइकोलॉजिस्ट इसे ग्रीन आई मॉन्स्टर कहते हैं और इसके लिए असुरक्षा की भावना को ज़िम्मेदार ठहराते हैं। जो इस रिश्ते पर अच्छा या बुरा दोनों तरह का असर छोड़ सकता है। जैसे, पति दूसरी महिला की तारीफ़ करे, तो अपनी ज़रूरतों को अक्सर नज़रअंदाज़ करने वाली पत्नी ख़ुद का ख़्याल रखना शुरू कर देती है। ऐसे ही कई लापरवाह पति, अचानक पत्नी की फिक्र करने लगते हैं। लेकिन अधिकांश मामलों में ईर्ष्या सब बिगाड़ती ही है।
 
ग्रीनआई मॉन्स्टर का बुरा असर…
ग्रीन आई मॉन्स्टर ने पति-पत्नी के बीच घुसपैठ कर ली, तो प्यार और विश्वास के बावजूद अनेक शंकाएं मन को घेरने लगती हैं।
ईर्ष्या वाला व्यक्ति अपने पार्टनर को कंट्रोल करने की कोशिश करने लगता है। और जब इस पर बात करनी हो तो बहस और झगड़े का दौर शुरू हो जाता है।
लोग जीवनसाथी पर बेवजह शक करने लगते हैं। अपने साथी से बग़ैर पूछे उनका फोन, डायरी, मेल आदि की निगरानी करने लगते हैं।
ईर्ष्या करने वाला व्यक्ति स्थिति को सुधारना तो चाहता है, पर ऐसा कर पाना उसे अपने बस में नहीं लगता। तनाव के चलते वह चिड़चिड़ा हो जाता है। बात-बात पर झल्लाता है। सही वक़्त पर ये स्थितियां न सम्भलें, तो रिश्ता टूटने की कगार पर पहुंच जाता है।

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button