नोड्डीस प्ले स्कूल के बच्चों ने अनोखे क्राफ्ट डिज़ाइन से दिया सेव एनवायरनमेंट का सन्देश

लखनऊ.  राजधानी के नोड्डीस प्ले स्कूल के छोटे छोटे बच्चों ने सेव ट्री, सेव वाटर, सेव इलेक्ट्रिसिटी और सेव एनवायरनमेंट का मैसेज दिया. देश की आबादी तेजी से बढ़ रही है जिससे शहरों की सीमा भी लगातार बढ़ती जा रही है और हरे-भरे पेड़ पौधे कम हो रहे हैं. पर्यावरण में हो रहे इस असंतुलन का असर तापमान पर पड़ रहा है जो लगातार बढ़ता जा रहा है. गर्मियों के दिनों में लखनऊ में पेड़-पौधों के बिना तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से ऊपर पहुंचना कोई बड़ी बात नहीं है। गर्मी से बचने के लिए घरों में ऐसी कूलर पंखे चलाने पड़ते है जिससे बिजली की खपत भी बहुत होती है …..। इन सबसे पर्यावरण बुरी तरह प्रभावित होता है । हम सब ये अच्छी तरह जानते है लेकिन फिर भी विकास की भागदौड़ में हम इतने व्यस्त है कि पेड़ पौधों की तरफ हमारा ध्यान ही नही जाता है ।

Loading...

नोड्डीस प्ले स्कूल

अनोखे क्राफ्ट डिज़ाइन से दिया सेव एनवायरनमेंट का सन्देश

लेकिन अब बच्चो ने शिक्षकों की मदद से पर्यावरण को बचाने की मुहिम शुरू की है । राजधानी के नोड्डीस प्ले स्कूल के छोटे छोटे बच्चों ने सेव ट्री, सेव वाटर, सेव इलेक्ट्रिसिटी और सेव एनवायरनमेंट का मैसेज दिया…। इसके लिए इन नौनिहालों ने शिक्षकों की मदद से इस तरह के msg देने वाले क्राफ्ट को डिज़ाइन किया।

नोड्डीस प्ले स्कूल

कहीं पर्यावरण से सम्बंधित क्राफ्ट बने थे तो कहीं पानी को बचने वाले मेसेज क्राफ्ट । बिजली को बचाना पर्यावरण के लिए बहुत जरूरी हो सकता है इस तरह के मेसेज छोटे बच्चों के ज़रिये देख पेरेंट्स बहुत प्रभावित हुए | अगर कल है जगमगाना तो आज से ही बिजली बचाना, अगर हमसे है आपको प्यार तो वृक्षारोपण से करो धरती का श्रृंगार.।

स्कूल के प्रिंसिपल रितेश सूद ने बताया कि  बिजली-पानी बचाने और पर्यावरण प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए स्कूल प्रबंधन ने अपने स्तर से आर्ट और क्राफ्ट के जरिये बच्चो को एनवायरनमेंट का पाठ पढ़ाने के लिए ये प्रोग्राम आयोजित किया । जिससे बच्चे तो पर्यावरण की सुरक्षा के बारे में सीखे ही वहीं बच्चों के जरिए घरवालों को भी पर्यावरण सुरक्षा के प्रति जागरूक किया गया ।

यह भी पढ़ें- अब आप भी जीत सकते हैं 2.5 करोड़ रुपये, बस 5G इंटरनेट क लेकर करना होगा…

loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *