नोटबंदी फैसले के बाद: इस बड़े नेता के घर मिले 40 हजार करोड़, जानिए सच

नई दिल्ली: 500 और हजार के नोट बंद क्या हुए, हर तरफ से लाखों करोड़ों रुपए पकड़े जाने की खबर आने लगी. अब एक नई खबर चर्चा में है. तस्वीरों के जरिए दावा है कि एक नेता के घर से 40 हजार करोड़ का खजाना मिला है. रकम बहुत बड़ी है आप अंदाजा लगाने की कोशिश भी करेंगे तो नहीं लगा पाएंगे कि 40 हजार करोड़ कितना होता है? एबीपी न्यूज़ ने इस खबर की पड़ताल की और सच का पता लगाया.gfgfrgg

तस्वीरों के जरिए ये बताने की कोशिश की जा रही है कि एक नेता के घर पर 40 हजार करोड़ का काला धन पकड़ा गया है. एक तस्वीर में 11 एयरबैग नोटों से भरे हुए हैं तो दूसरी तस्वीर में एयरबैग खाली है और नोटों के बंडल मेज पर रखे हुए हैं. कहीं नोटों की गिनती हो रही है.. तो कहीं पुलिस भी दिखाई दे रही है और इस तस्वीर में तो संदूक के संदूक ही नोटों से भरे हुए हैं.

जिसने भी इन तस्वीरों को देखा हैरान हुए बिना नहीं रह पाया. इन तस्वीरों को दखकर सबसे पहला सवाल आता है कि कोई भला इतना पैसा अपने घर में कैसे रख सकता है? तस्वीर के साथ जो दावा किया जा रहा है वो और भी हैरान करने वाला है. इन तस्वीरों के साथ एक कहानी लिखी है कि तमिलनाडु में एक नेता के घर से 40 हजार करोड़ रुपए बरामद हुए हैं.

सवाल ये उठता है कि कोई 40 हजार करोड़ जैसी बड़ी रकम घर में क्यों रखेगा? क्या वाकई किसी नेता के पास से इतनी बड़ी रकम बरामद हुई है इन सवालों का जवाब ढूंढने के लिए एबीपी न्यूज ने वायरल कहानी की पड़ताल की. हमने जब इन तस्वीरों का सच ढूंढने की कोशिश की तो पता चला इन सातों तस्वीरों की एक नहीं बल्कि अलग-अलग कुल सात कहानियां हैं.

पहली तस्वीर का सच
सबसे पहले आप इस तस्वीर का सच जान लीजिए. ये तस्वीर 18 मार्च 2014 की है. जब चुनाव से ठीक पहले तमिलनाडु में चुनाव आयोग के फ्लाइंग स्कवॉड ने 11 करोड़ कैश पकड़ा था. नोटों से भरे एयरबैग वाली तस्वीर का सच ये है कि आयकर विभाग ने चेन्न्ई की एक लॉटरी कंपनी के एजेंट्स के ठिकानों पर छापेमारी की थी. ये ठिकाने कोलकाता और सिलीगुड़ी में थे. छापेमारी में 50 करोड़ जब्त किए गए थे.

notebandi2दूसरी तस्वीर का सच
नोटों के साथ दिख रही पुलिस वाली तस्वीर की कहानी भी दो साल पहले की है जब वारंगल पुलिस ने धोखाधड़ी के आरोप में तीन लोगों के गिरोह को गिरफ्तार किया था और करीब पौने दो करोड़ रुपए जब्त किए थे.

notebandi23तीसरी तस्वीर का सच
जिन संदूकों में भरे नोटों को देखकर आप चौंक रहे हैं वो दरअसल रेल नीर घोटाले की तस्वीरें हैं जब 20 करोड़ नकद बरामद हुआ था. ये घटना पिछले साल 2015 में अक्टूबर महीने की है ये सातों तस्वीरें अलग-अलग घटनाओं की है जिनका नोटबंदी के बाद किसी नेता के घर पर हुई छापेमारी या काले धन से कोई लेना-देना नहीं है.

विडियो देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.. नोटबंदी के बीच एक नेता के घर 40 हजार करोड़ मिलने का सच

abpnews.abplive.in से साभार..

 
 
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button