दुनिया के इन देशों में मिलती है सबसे तेज इंटरनेट स्पीड

रिलायंस जियो के बाद भारत में इंटरनेट स्पीड को लेकर चर्चाएं हो रही हैं। जहां भारत में अभी 4जी ने दस्तक दी है वहीं, दुनिया के कई देश 5जी और 10जी तक पहुंच चुके हैं। इंटरनेट स्पीड के मामले में भारत अभी भी कई देशों के पीछे चल रहा है। भारत में आज भी कई बड़े ब्रैंड्स 50 एमबीपीएस तक की स्पीड देते हैं तो कई लोकल सर्विस प्रोवाइडर 4 एमबीपीएस की ही स्पीड देते हैं। ऐसे में हम आपको 5 ऐसे देशों के बारे में बताने जा रहे हैं जहां भारत के मुकाबले स्पीड कही ज्यादा है।internet

दक्षिण कोरिया

इंटरनेट की सबसे तेज स्पीड की बात करें तो दुनियाभर में साउथ कोरिया शीर्ष पर है। यहां इंटरनेट की औसत स्पीड 26.7 एमबीपीएस प्रति सेकेंड है। इसका मतलब यह हुआ कि यहां औसतन एक व्यक्ति हर सेकेंड 26 एमबीपीएस से ज्यादा डाटा डाउनलोड या अपलोड कर सकता है। 26.7 मेगाबाइट प्रति सेकेंड का सीधा मतलब 1 मिनट में यूजर 1.6 जीबीपीएस स्पीड का लुत्फ उठा सकते हैं। ध्यान दें यह औसत स्पीड है इसका मतलब साउथ कोरिया में इंटरनेट की टॉप स्पीड इससे कहीं ज्यादा होगी।

स्वीडन

इंटरनेट स्पीड के मामले में दूसरा नाम स्वीडन का है। यह यूरोप का एक देश है। यहां पर इंटरनेट की औसत स्पीड 19.1 एमबीपीएस प्रति सेकेंड है। अगर आंकड़ों पर ध्यान दिया जाए तो स्वीडन के यूजर्स 1 मिनट में 1.1 गीगाबाइट तक डाउनलोड या अपलोड कर सकते हैं।

नॉर्वे

सबसे तेज इंटरनेट स्पीड के मामले में नॉर्वे का नाम भी शुमार है। यहां 18.8 एमबीपीएस प्रति सेकेंड इंटरनेट स्पीड है। साल 2012 में इंटरनेट रैंकिंग में नॉर्वे 147 देशों में 42वें स्थान पर था। 2011 में हुए एक सर्वे के मुताबिक, नॉर्वे में 8.1 एमबीपीएस प्रति सेकेंड की स्पीड आती थी।

जापान

जापान में 17.4 एमबीपीएस प्रति सेकेंड इंटरनेट स्पीड है। जापान एडवांस ऑप्टिकल स्विचिंग टेकनोलॉजी के साथ काम कर रहा है। एक जापानी इंटरनेट प्रोवाइडर अभी 2जीबीपीएस इंटरनेट स्पीड दे रहा है, जो इसे दुनिया की सबसे फास्ट इंटरनेट सर्विस बनाता है। जापान उन देशों में से है जो 100 जीबीपीएस की स्पीड पर काम कर रहे हैं।

नीदरलैंड

यूरोप के ही एक देश नीदरलैंड में 17.0 एमबीपीएस प्रति सेकेंड स्पीड आती है। यह औसत स्पीड है इसका सीधा मतलब नीदरलैंड में इंटरनेट की टॉप स्पीड इससे कहीं ज्यादा होगी।

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button