दिल दीवाना बिन इन टिप्स के माने ना…

how-to-maintain-a-healthy-heart-know-your-heart-health-numbers-415x260यह विश्व हृदय मास है। यह जानते हुए कि हम ऐसे देश में रहते हैं जो जल्द ही दिल की बीमारियों की विश्व-राजधानी बनने वाला है। हम सबको मिलकर अपने घरों में सेहतमंद दिल रखने वाला माहौल बनाना होगा। जीवनशैली में थोड़ा बदलाव कर हम अपने और अपने परिवार को दिल की बीमारियों व दिल के दौरे से बचा सकते हैं। अगर समय रहते जीवनशैली में सुधार कर लिया जाए तो दिल की बीमारी ठीक हो सकती है। नौ ऐसी बातें हैं जिन्हें बदलकर दिल के दौरे को टाला जा सकता है, जिनमें धूम्रपान, डिस्लिपडेमिया, हाईपरटेंशन, डायबिटीज, पेट का मोटापा, साइकोसोशल फैक्टर, नियमित तौर पर शराब का सेवन, आहार में फल और सब्जियों की कमी और एक ही जगह बैठे रहने वाली जीवनशैली शामिल हैं। 90 प्रतिशत लोगों को इनमें से किसी या कुछ चीजों की वजह से दिल का दौरा पड़ता है। इन बुरी आदतों में सुधार करके आने वाली दिल की बीमारियों से बचा जा सकता है।

हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष एवं आईएमए के ऑनरेरी सेक्रेटरी जनरल डॉ. के.के. अग्रवाल ने बताया, “दिल को सेहतमंद बनाने वाली आदतें अपनाकर दिल की ज्यादातर बीमारियों को कम किया जा सकता है। बच्चों को शुरू से ही धूम्रपान के बुरे प्रभाव के बारे में जागरूक किया जाना चाहिए, सेहतमंद आहार और नियमित व्यायाम के फायदे बताने चाहिए।”

उन्होंने कहा, “बच्चों द्वारा भविष्य में अपनाई जाने वाली आदतों के संदर्भ में मां-पिता की भूमिका अहम हो सकती है। अगर मां-पिता धूम्रपान करते हों, तनावपूर्ण और सुस्त जीवन बिताते हों तो बच्चों में भी ये आदतें पड़ जाएंगी।”

इन बातों का ध्यान रखकर हम अपने घर में दिल के लिए सेहतमंद माहौल बना सकते हैं : Healthy-Heart

  • सेहतमंद खाद्य पदार्थो के विकल्प घर में रखें।
  • जंक और पैकेटबंद खाना खाने से परहेज करें, उसमें अत्यधिक चीनी और नमक होता है।
  • ताजा फल और सब्जियों को अपने आहार में शामिल करें। मीठा खाने की इच्छा मीठे फल खाकर पूरी करें।
  • घर पर अपने खाने के लिए और बच्चे के टिफिन के लिए सेहतमंद और सृजनात्मक लंच बनाएं।
  • घर में धूम्रपान करने पर पूरी तरह से पाबंदी लगाएं, इससे न सिर्फ आपकी सेहत अच्छी रहेगी, बल्कि बच्चों की सेहत भी अच्छी रहेगी।
  • टीवी देखने और वीडियो गेम्ज खेलने के घंटे कम और निश्चित करें और शारीरिक गतिविधियों को अपनाएं।
  • साइकिल चलाएं, पहाड़ पर चढ़ें और बाग में खेलने जैसे गतिविधियों में भाग लें।
  • स्वास्थ्य सलाहकार के पास जाकर अपना रक्तचाप, कॉलेस्टरॉल, ग्लूकोज स्तर, वजन और बॉडी मास इंडेक्स की जांच करवाएं।
 

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button