दिल्‍ली-एनसीआर में हर दिन हो रही कम ज्‍यादा बारिश ने हवा को कर दिया साफ, तीन साल में सबसे ज्‍यादा स्‍वच्‍छ

कम बरसने के बावजूद बारिश की अनमोल बूंदों ने दिल्ली एनसीआर ही नहीं, देश के तमाम शहरों का प्रदूषण धो दिया है। कमोबेश हर जगह हवा या तो अच्छी है या संतोषजनक श्रेणी में है। मौसम विभाग और केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के मुताबिक यह सुखद एहसास अभी जारी रहेगा। दिल्ली में बारिश औसत से 29 फीसद जबकि हरियाणा, चंडीगढ़ में 33 फीसद कम हुई है।

Loading...

बारिश औसत स्‍तर पर 
देशभर में भी बारिश शुक्रवार को ही औसत स्तर पर पहुंची है। हालांकि, कभी तेज और कभी झमाझम बारिश ने प्रदूषण कणों की पूरी तरह दम तोड़ दी है और सभी जगह लोग खुलकर सांस ले रहे हैं।

जारी रहेगा बारिश का दौर
कई दिनों की उमस भरी गर्मी के बाद शुक्रवार को दिनभर मौसम सुहावना बना रहा। दोपहर बाद दिल्ली के विभिन्न इलाकों में बदरा बरसे। कहीं यह बारिश हल्की रही तो कहीं कुछ देर के लिए ही सही मगर झमाझम हुई। इससे उमस भी खत्म हुई एवं तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई। मौसम विभाग का अनुमान है कि बारिश का यह दौर कई दिनों तक जारी रहेगा।

दिल्‍ली-एनसीआर में हो रही
शनिवार को दिल्‍ली-एनसीआर समेत कई जगहों पर बारिश हो रही है। गुरुग्राम, गाजियाबाद और नोएडा में रुक-रुक कर बारिश हो रही है। बारिश से मौसम काफी सुहावना हो गया है। वहीं तापमान कम होने से लोगों को काफी राहत है। शुक्रवार को सुबह के समय हालांकि मौसम साफ था। लेकिन, बादल छाए होने के कारण धूप हल्की ही रही। दिनभर हवा चलते रहने से दिल्लीवासियों को ज्यादा उमस भी महसूस नहीं हुई। दोपहर के बाद मौसम में बदलाव आया। दिल्ली में ज्यादातर जगह घने बादल छा रहे। इसी दौरान कहीं अच्छी बारिश हुई तो कहीं हल्की। मौसम विभाग के मुताबिक लोधी रोड में सर्वाधिक 4.3 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई। सफदरजंग में 3.6 मिलीमीटर, पालम में 0.4 मिलीमीटर, रिज में 0.4 मिलीमीटर, नजफगढ़ में और स्पोट्र्स कांप्लेक्स में 1.0 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई। वहीं हवा में नमी का स्तर 70 से 86 फीसद दर्ज किया गया।

यह है आपके शहर का एयर इंडेक्‍स
सीपीसीबी द्वारा जारी एयर बुलेटिन के मुताबिक शुक्रवार को दिल्ली, गाजियाबाद एवं गुरुग्राम का एयर इंडेक्स महज 53, ग्रेटर नोएडा का 58, फरीदाबाद का 40 और नोएडा का 37 दर्ज किया गया। सभी जगह हवा अच्छी या संतोषजनक श्रेणी में रही। यह स्थिति भी सप्ताह भर से लगातार बनी हुई है।

तीन साल  में पहली बार इतना कम हुआ प्रदूषण
पीएम 2.5 और पीएम 10 का स्तर भी 2016, 2017 व 2018 के बाद पहली बार 30 से कम चल रहा है। इसी तरह देशभर में सीपीसीबी 90 शहरों की वायु गुणवत्ता मापता है। बृहस्पतिवार को इनमें से 81 जबकि शुक्रवार को 88 शहरों की हवा अच्छी या संतोषजनक श्रेणी में रही।

सीपीसीबी के अपर निदेशक वीके शुक्ला  ने बताया कि तेज हवा और बारिश हमेशा ही वायु प्रदूषण की दवा रही है। बेशक इस बार मानसून की बारिश कम है, लेकिन तब भी कभी रिमझिम और झमाझम बारिश होने से धूल के कण अच्छे से बैठ गए हैं। बीच बीच में तेज हवा भी प्रदूषक कणों को बहाकर ले जा रही है।

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com