दिल्ली में बवाल के चलते 5 लोगो की हुई मौत… डीसीपी-एसीपी सहित 60 घायल

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में उत्तर पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद और मौजपुर में लगातार दूसरे दिन जमकर हिंसक उपद्रव हुआ। उपद्रवियों ने सोमवार को कई घरों, दुकानों और वाहनों को आग लगा दी।

विस्तार

Loading...
नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में उत्तर पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद और मौजपुर में लगातार दूसरे दिन जमकर हिंसक उपद्रव हुआ। उपद्रवियों ने सोमवार को कई घरों, दुकानों और वाहनों को आग लगा दी। पुलिस पर पथराव और गोलियां चलाई गईं। गोकुलपुरी में पथराव में सिर में चोट लगने से हेड कांस्टेबल रतन लाल की मौत हो गई, जबकि शाहदरा के डीसीपी अमित शर्मा और गोकुलपुरी एसीपी अनुज कुमार घायल हो गए।

वहीं, करदमपुरी निवासी फुरकान और तीन अन्य युवकों की मौत हुई है। पुलिस ने उपद्रवियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज किया। चांद बाग और भजनपुरा में सीएए विरोधी और समर्थकों के बीच संघर्ष हुआ। पुलिस ने हिंसा प्रभावित दस इलाकों में धारा-144 लगा दी है। वहीं, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने शीर्ष अधिकारियों की आपात बैठक लेकर स्थिति की समीक्षा की।

पुलिस के मुताबिक, हेड कांस्टेबल सहायक उपायुक्त कार्यालय से जुड़े थे। डीसीपी शर्मा के हाथ और सिर में चोट आई है, उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दस अन्य पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, सोमवार को जाफराबाद और मौजपुर में भारी पथराव के चलते पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। इसके बाद हिंसा भड़क गई।

मौजपुर और भजनपुरा में कई दुकानों और घरों में तोड़फोड़ के बाद आग लगा दी गई। जाफराबाद में एक शख्स ने बीच रोड पर तमंचे से कई राउंड गोलियां दागीं। उपद्रवियों ने यहां एक पेट्रोल पंप को जला दिया। आग बुझाने पहुंची दमकल की गाड़ी में भी तोड़फोड़ की गई। परीक्षा देकर लौट रहे छात्रों से भी मारपीट की गई। देर शाम उपद्रवियों ने गोकुलपुरी की टायर मार्केट को भी फूंक दिया।

बवाल बढ़ने पर दिल्ली मेट्रो ने पांच स्टेशन बंद कर दिए। जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर, गोकुलपुरी, जौहरी एन्क्लेव और शिव विहार स्टेशन बंद रहे। इस रूट पर ट्रेनें वेलकम मेट्रो स्टेशन तक चलीं। वहीं, जनपथ, पटेल चौक, उद्योग भवन व केंद्रीय सचिवालय मेट्रो स्टेशनों के गेट बंद किए गए।
हिंसा प्रभावित उत्तर पूर्वी जिले में मंगलवार को सभी सरकारी और निजी स्कूल बंद रहेंगे और परीक्षा नहीं होगी। सीबीएसई ने कहा, मंगलवार को चार वोकेशनल विषयों की परीक्षा है। इन विषयों में से एक भी केंद्र उत्तर पूर्वी दिल्ली में नहीं है।
दिल्ली के कुछ हिस्सों में शांति और सद्भाव में गड़बड़ी परेशान करने वाली है। मैं उपराज्यपाल और गृहमंत्री से कानून व्यवस्था बहाल करने की अपील करता हूं। किसी को भी राजधानी का माहौल खराब करने की अनुमति नहीं दी जा सकती।

सरकारी सूत्रों ने कहा कि हिंसा को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की यात्रा को देखते हुए सुनियोजित तरीके से अंजाम दिया गया। यात्रा के चलते हिंसा में शामिल लोगों को व्यापक प्रचार मिल रहा है। दिल्ली के पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक कंट्रोल रूम से हालात पर करीब से नजर रखे हैं। वहीं, गृह सचिव अजय भल्ला ने कहा कि उच्च अधिकारी इलाके में मौजूद हैं। पर्याप्त संख्या में सुरक्षाबल तैनात है, स्थिति फिलहाल काबू में है।

शांति बनाए रखें, अफवाहों से बचें: पुलिस
दिल्ली पुलिस ने कहा, मौजपुर, करदमपुरी, चांद बाग और दयालपुर इलाके में हिंसा हुई है। ऐसे इलाकों की पहचान की गई है, जहां अशांति फैल सकती है। पुलिस स्थिति सामान्य करने की कोशिश कर रही है। लोग शांति बनाए रखें और अफवाहों से बचें। उपद्रवियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

सख्ती से निपटेगी सरकार : रेड्डी
प्रदर्शनकारी संविधान के दायरे में विरोध करेंगे तो सरकार उनका समर्थन करेगी। लेकिन अगर वे हिंसा या उसे भड़काने की कोशिश करेंगे तो उनसे सख्ती से निपटा जाएगा। गृहमंत्रालय लगातार स्थिति पर नजर रख रहा है। अशांत इलाकों में और सुरक्षाबलों को भेजने का निर्देश दिया गया है।

loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *