पंजाब में इस खास पोलिंग बूथों पर हुए सबसे कम मतदान

मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल और पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच टक्कर के चलते हॉट सीट लंबी विधानसभा हलके में जहां कई गांवों के पोलिंग बूथों पर अधिकतम 93.92 प्रतिशत रिकॉर्ड मतदान हुआ है, वहीं मुख्यमंत्री बादल के अपने गांव में उनके निवास के सामने सरकारी सीनियर सेकेंडरी स्कूल के 117 नंबर बूथ पर सबसे कम 63.21 प्रतिशत मतदान हुआ। हालांकि इस बूथ पर तमाम सुविधाओं हैं, लेकिन इसके बावजूद लोगों ने उदासीनता दिखाई। पंजाब में इस खास पोलिंग बूथों पर हुए सबसे कम मतदान

पंजाब में चार फरवरी को चुनाव हुए थे। इस बूथ पर कुल 984 मतदाता हैं, जिनमें से 622 ने ही अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इस बूथ पर केवल 58.87 प्रतिशत महिलाओं ने मतदान में रुचि दिखाई। यह भी हलके में महिलाओं का सबसे कम प्रतिशत है जबकि गांव बादल के ही 116 नंबर पोलिंग बूथ पर मतदान प्रतिशत 86.47 रहा है।

इसी तरह गांव बादल का तीसरा 118 नंबर बूथ, जिस पर पूरे बादल परिवार की वोट हैं, पर मतदान प्रतिशत 75.45 रहा है। लंबी हलके के अन्य गांवों का मतदान प्रतिशत 72 से शुरू होकर 93.92 प्रतिशत तक पहुंच गया था। हलके के गांव कर्मगढ़, बुर्ज सिधवां, माहणी खेड़ा, फुल्लू खेड़ा, आधनिया, शहणा खेड़ा, खुड्डियां गुलाब सिंह, खुड्डियां महां सिंह, ख्योवाली, चन्नाू, थराजवाला, मान, गग्गड़, किलियांवाली, मिड्डूखेड़ा, कंदू खेड़ा, फत्ता केरा, वड़िंग खेड़ा आदि के कई बूथों में 90 से 93.92 प्रतिशत तक मतदान हुआ। सबसे अधिक मतदान 93.92 प्रतिशत पंजाब, हरियाणा और राजस्थान सीमा के साथ सटे हुए गांव कंदूखेड़ा में हुआ है।

अकाली नेता मंटा के गांव में 92.32 फीसद मतदान

उप मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल के ओएसडी रहे सतिंदरजीत सिंह मंटा के गांव रोड़ांवाली में 92.32 प्रतिशत मतदान हुआ है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button