तो इसलिए चीन में नहीं खेला जाता है क्रिकेट, वजह जानकर आप हो जाएगे हैरान…

जब भी कभी किसी प्रकार के ओलम्पिक खेलों का आयोजन किया जाता हैं तो देखा जाता है कि चीन उसमें अधिकतर शीर्ष स्थान ही प्राप्त करता हैं। जी हाँ, चीन में खेलों को लेकर बहुत अधिक महत्ता दी जाती हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि जब चीन सभी खेलों में अग्रणी रहता हैं तो फिर यहाँ क्रिकेट जैसा प्रसिद्द खेल क्यों नहीं खेला जाता हैं। जी हाँ, इसके पीछे कई कारण हैं जो आपको हैरानी में डाल सकते हैं। तो आइये आज हम बताते हैं आपको आखिर क्यों चीन में क्रिकेट नहीं खेला जाता हैं।

Loading...


दरअसल, चीन हमेशा से ओलंपिक का समर्थक रहा है और ओलंपिक में होने वाले खेलों के लिए ही वह मेहनत भी करता है। यही वजह है कि चीन के खिलाड़ी हमेशा ओलंपिक में सबसे ज्यादा मेडल जीतते हैं। चूंकि क्रिकेट ओलंपिक का हिस्सा नहीं है, इसलिए यह देश इस खेल को खास तवज्जो नहीं देता है।

चीन के क्रिकेट न खेलने के पीछे दूसरी वजह है कि अंग्रेजों द्वारा चीन का उपनिवेश कभी नहीं किया गया। जो देश क्रिकेट खेलते हैं, वह कभी न कभी ब्रिटिश उपनिवेश का हिस्सा रहे हैं। यहां भले ही क्रिकेट न खेला जाता हो, लेकिन चीन के लोगों को बैडमिंटन, टेबल टेनिस जैसे खेलों में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। यह खेल ओलंपिक का हिस्सा हैं।

चूंकि क्रिकेट वैश्विक खेल नहीं है। यह दुनिया के कुछ ही देशों में खेला जाता है, जबकि चीन खेलों के माध्यम से भी दुनियाभर में अपनी छाप छोड़ना चाहता है। ये भी एक वजह है कि चीन के लोगों को क्रिकेट कुछ खास पसंद नहीं है।

हालांकि अब आईसीसी क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए चीन में भी प्रचार-प्रसार कर रहा है। इसी साल जनवरी महीने में टी-20 टूर्नामेंट कराया गया था, जिसमें चीन की महिला टीम ने भी भाग लिया था, लेकिन मैच में उसने एक शर्मनाक रिकॉर्ड बना दिया था, जिसे कोई भी क्रिकेट टीम तोड़ना नहीं चाहेगी।

दरअसल, बैंकॉक में खेले गए टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट में चीन की महिला टीम महज 14 रनों पर ढेर हो गई थी। महिला और पुरुष टी-20 के लिहाज से यह किसी भी अंतरराष्ट्रीय मैच का न्यूनतम स्कोर है। चीन ने यह मैच संयुक्त अरब अमीरात के खिलाफ खेला था।

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *