डीएमके अध्यक्ष पर FIR, राज्यभर में भूख हड़ताल करेगी पार्टी, स्टालिन बोले- राष्ट्रपति से मिलेंगे

तमिलनाडु विधानसभा में डीएमके विधायकों को सदन के बाहर निकाने जाने के बाद एक दिन बाद रविवार को पार्टी के अध्यक्ष एमके स्टालिन के खिलाफ पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। यह एफआईआर उनकी पार्टी की ओर से शनिवार को मरीना बीच पर किए गए प्रदर्शन को लेकर की गई है।डीएमके अध्यक्ष पर FIR, राज्यभर में भूख हड़ताल करेगी पार्टी, स्टालिन बोले- राष्ट्रपति से मिलेंगेशनिवार को स्टालिन और डीएमके पार्टी के अन्य नेताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया था, इसके कुछ देर बाद उन्हें छोड़ दिया गया था।

ई पलानीस्वमी ने शनिवार को विधानसभा में अपना बहुमत साबित किया था। इस दौरान सदन में काफी हंगामा भी हुआ। हंगामे के बाद सदन के स्पीकर ने डीएमके नेताओं को विधानसभा से बाहर कर दिया था। इसके बाद पलानीस्वामी ने 122 विधायकों को समर्थन के साथ बहुमत साबित किया।

रविवार का स्टालिन ने कहा कि हम लोग इस मामले में दिल्ली में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात करने की कोशिश कर रहे हैं। हम लोगों ने विधानसभा में जो भी कुछ हुआ, उसके बारे में जानकारी देने के लिए राष्ट्रपति से समय मांगा है।

इसके साथ ही डीएमके ने पूरे राज्य में भूख हड़ताल की घोषणा की है। डीएमके ने घोषणा की है कि राज्य के सभी जिलों में पार्टी ऑफिस में भूख हड़ताल की जाएगी। स्टालिन ने शनिवार को राज्यपाल से भी मुलाकात की। डीएमके विधायक ने कहा कि हमने राज्यपाल से इस बारे में ज्ञापन भी सौंपा है, उन्होंने कहा कि वे इस मामले को देखेंगे।

डीएमके के विधायकों ने सदन के स्पीकर से मांग की थी कि विश्वासमत साबित करवाने के लिए इतनी जल्दबाजी क्यों की जा रही है, जब राज्यपाल ने 15 दिन का वक्त दिया है। लेकिन स्पीकर ने डीएमके विधायकों की मांग को खारिज कर दिया।

डीएमके विधायकों ने सदन में काफी हंगामा किया। सदन में विधायकों ने टेबल तोड़ी, कुर्सियां फेंकी, एक दूसरे के कपड़ें फाड़ दिए। सदन के स्पीकर का कहना है कि उनके साथ बदसलूकी की गई है। डीएमके का एक विधायक स्पीकर की कुर्सी पर जाकर बैठ गया। वहीं कुछ विधायकों ने नारेबाजी भी की।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button