डेरा फॉलोअर्स पिता-बेटे को 2 नकाबपोशों ने गोली मारी, वारदात CCTV में कैद

लुधियाना.खन्ना के जगेड़ा इलाके में डेरा सच्चा सौदा सिरसा के 2 फॉलोअर्स की गोली मारकर हत्या कर दी गई। दोनों पिता-बेटे थे। वारदात डेरा के नामचर्चा घर की कैंटीन में हुई। हत्याकांड को 2 नकाबपोश शख्स ने अंजाम दिया। कत्ल की सारी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई है। पूरी वारदात सिर्फ 13 सेकंड में…
डेरा फॉलोअर्स पिता-बेटे को 2 नकाबपोशों ने गोली मारी, वारदात CCTV में कैद
– मारे गए लोगों की पहचान पिता सतपाल (62) और उनके बेटे रमेश कुमार (35) के तौर पर हुई है। दोनों अहमदगढ़ के रहने वाले थे।
– पुलिस ने कैंटीन में लगे सीसीटीवी फुटेज कब्जे में ले लिए हैं। इनमें दो नकाबपोश शख्स कैंटीन में गोलियां चलाते दिख रहे हैं।
– सीसीटीवी फुटेज को देखने से पता चलता है कि पूरी वारदात को सिर्फ 13 सेकंड में अंजाम दिया गया।
– सतपाल को एक जबकि रमेश के सिर में दो गोलियां लगीं। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।
 
बाइक से फरार हुए हत्यारे
– शनिवार को वारदात को अंजाम देने के बाद नकाबपोश शख्स बाइक पर सवार होकर फरार हो गए।
– एसएसपी सतिंदर सिंह ने कहा, “यह माहौल बिगाड़ने की कोशिश है। इसमें कट्टरपंथी संगठनाें का हाथ होने से इनकार नहीं किया जा सकता। बहरहाल, हर पहलू से जांच जारी है।”
– डीएसपी पायल वरिंदरजीत सिंह थिंद ने कहा, सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे लोगों की तलाश जारी है।
 
प्रोफेशनल किलर होने का शक
– पुलिस का कहना है कि हमलावर प्रोफेशनल किलर लगते हैं। फुटेज में दिखता है कि बाइक से उतरने के बाद 2 शख्स तेजी से कैंटीन में दाखिल होते हैं और वारदात कर बाइक से लौट जाते हैं।
– उनके सिर पर मंकी कैप थी और चेहरा रुमाल से ढंका था। दोनों ने दस्ताने भी पहने हुए थे।
– फायरिंग करते हमलावरों के अंदाज देखकर लगता है कि इस ऑपरेशन के लिए रिहर्सल की गई थी।
– वारदात को अंजाम देते वक्त वे नामचर्चा घर में लोगों की मौजूदगी के बावजूद नहीं घबराए, इससे भी उनके पेशेवर होने का अंदाजा लगता है।
 
परिवार बोला- किसी से कोई दुश्मनी नहीं
– सतपाल के दूसरे बेटे महेश ने पुलिस को दिए बयान में बताया है कि उनके परिवार की किसी के साथ कोई दुश्मनी नहीं थी।
– पड़ोसियों ने बताया कि सतपाल का पूरा परिवार डेरा का फॉलोअर है।
 
इलाके में पुलिस फोर्स तैनात
– तनाव को देखते हुए पूरा इलाका सील कर दिया है। नामचर्चा घर के आसपास भारी पुलिस फोर्स तैनात की गई है।
– सतपाल और रमेश जगेड़ा स्थित नामचर्चा घर की कैंटीन में काम करते थे।
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button