डेंगू को लेकर IMA ने सरकार पर दागे सवाल, CM ने अफसरों से तलब की रि‍पोर्ट

degue_1442618805लखनऊ. पि‍छले 15 दि‍नों से यूपी में कहर बरपा रहे दि‍मागी बुखार और डेंगू के इलाज में जुटे डॉक्टरों की रि‍पोर्ट को खारि‍ज कि‍ए जाने पर इंडि‍यन मेडि‍कल एसोसि‍एशन (आईएमए) ने सरकार की मंशा पर सवाल उठा दि‍या है। आईएमए ने कहा है कि‍ अपनी कमि‍यों को छुपाने के बजाय सरकार उल्‍टे डॉक्टरों पर दोषारोपण कर रही है। आईएमए ने पूछा है कि‍ यदि डेंगू नहीं तो इतनी मरीजों की मौत के पीछे क्‍या कारण हो सकते हैं? आईएमए के सवाल उठाने के बाद सीएम अखि‍लेश यादव ने स्‍टेट नोडल अधि‍कारि‍यों को अस्‍पतालों का औचक नि‍रीक्षण करने के साथ ही 15 दि‍नों में रि‍पोर्ट देने को कहा है।
आईएमए के सवाल
अस्‍पतालों में बुखार से मरने वाले मरीजों की संख्‍या 50 तक पहुच चुकी है। इसके बावजूद सरकारी मशीनरी इसे डेंगू नहीं मान रही है। उल्‍टे स्‍वास्‍थ्‍य वि‍भाग के अधि‍कारी डॉक्टरों पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं। ऐसे में आईएमए ने स्‍वास्‍थ्‍य वि‍भाग से पूछा है कि‍ अगर यह डेंगू नहीं तो और क्‍या है? जिससे मरीजों की मौत हो रही है। आईएमए की लखनऊ शाखा की अध्‍यक्ष डॉ. रुखसाना खान का कहना है कि नि‍जी लैब की रि‍पोर्ट यदि गलत है तो सरकारी लैब की गुणवत्‍ता पर कि‍स आधार पर भरोसा कि‍या जा सकता है। सरकारी लैब एनएबीएल के मानकों के अनुसार संचालि‍त नहीं हो रही हैं। ऐसे में सरकारी लैब को भी वि‍श्‍वसनीय नहीं माना जा सकता है। उन्‍होंने कहा कि‍ सरकार चाहे तो कि‍सी भरोसेमंद लैब से जांच करा कर सच्‍चाई जान सकती है।

डेंगू को लेकर सरकार संवेदनशील नहीं
डेंगू और इस प्रकार की बीमारि‍यां हर सीजन में आती हैं। डेंगू पूरी तौर पर रोकी जा सकने वाली बीमारी है, लेकिन इसकी रोकथाम डॉक्टर्स नहीं कर सकते। यह स्‍वास्‍थ्‍य वि‍भाग और नगर नि‍गम का दायि‍त्‍व है। डेंगू गंदगी में फैलने वाले मच्‍छर से होती है फि‍र भी सरकार कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है। आईएमए के मुताबिक, जनता को यह बताया जाना चाहि‍ए कि‍ डेंगू की रोकथाम के लि‍ए इस वर्ष कौन से उपाय कि‍ए गए हैं। कि‍तने सरकारी बैंको में प्‍लेटलेट्स जंबोबैग की सुवि‍धा उपलब्‍ध है।

सीएम ने दि‍या अफसरों को निर्देश
डेंगू सहि‍त अन्‍य बीमारि‍यों को लेकर सरकारी अस्‍पतालों में उमड रही भीड़ को देखते हुए सीएम अखि‍लेश यादव ने स्‍टेट नोडल अधि‍कारि‍यों को आदेश देकर अस्‍पतालों के नि‍रीक्षण का आदेश दि‍या है। उन्‍होंने अधि‍कारि‍यों से 15 दि‍न में पूरी रि‍पोर्ट तलब की है।

डेंगू के दो मरीज मिले, दर्जन भर भर्ती
शुक्रवार को बलरामपुर अस्‍पताल में डेंगू के दो पॉजीटिव केस आए। वहीं, बुधवार को इन अस्‍पतालों में दर्जन भर से उपर बुखार के मरीज भर्ती किए गए हैं। डॉक्टरों का कहना है कि‍ आम दि‍नों की अपेक्षा ओपीडी से लेकर पैथालॉजी में दोगुने की संख्‍या में मरीज आ रहे हैं।

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button