टिकट काटने का शतक लगाएगी BJP, यूपी सहित हरियाणा, दिल्ली की सीटों पर फैसला आज

अब तक 50 मौजूदा सांसदों को टिकट से वंचित कर चुकी भाजपा करीब इतनी ही संख्या में मौजूदा सांसदों को चुनाव मैदान से बाहर करेगी। उत्तर प्रदेश में करीब 16 और सांसदों के टिकट कटने के आसार हैं। जबकि केंद्रीय नेतृत्व ने दिल्ली और हरियाणा में कम से कम 4-4 सांसदों, जबकि मध्य प्रदेश, राजस्थान और गुजरात में 3-3 सांसदों का टिकट काटने का संकेत दिया है। इन राज्यों की ज्यादातर सीटों पर सोमवार देर रात तक फैसला हो जाएगा। पार्टी नेतृत्व नहीं चाहता कि पीएम की लोकप्रियता कायम रहने के बावजूद ऐसे सांसदों को टिकट दे कर खतरा मोल लिया जाए, जिनकी रिपोर्ट कार्ड ठीक नहीं है।टिकट काटने का शतक लगाएगी BJP, यूपी सहित हरियाणा, दिल्ली की सीटों पर फैसला आज

उत्तर प्रदेश की टिकट वितरण प्रक्रिया से जुड़े एक वरिष्ठ नेता के मुताबिक पहली सूची में एक मंत्री सहित छह सांसदों को टिकट से वंचित करने के बाद राज्य इकाई ने 16 सीटों पर उम्मीदवार बदलने की सिफारिश की है। यूपी में फिलहाल 47 सीटों पर उम्मीदवार घोषित होने हैं। इनमें से ज्यादातर सीटों पर पार्टी के सांसद हैं। उक्त सूत्र के मुताबिक सांसदों के खिलाफ सर्वाधिक नाराजगी पूर्वी उत्तर प्रदेश में है। इसलिए इसी क्षेत्र के ज्यादातर सांसदों के टिकट काटने की सिफारिश की गई है।

हरियाणा और दिल्ली में भी पार्टी कम से कम 4-4 सांसदों के टिकट काटेगी। दिल्ली में केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन और रमेश विधूड़ी को छोड़ कर शेष 5 सांसदों की रिपोर्ट ठीक नहीं है। हाल ही में पार्टी में शामिल हुए क्रिकेटर गौतम गंभीर को मीनाक्षी लेखी की जगह जबकि अशोक प्रधान को उदित राज की जगह टिकट दिए जाने की चर्चा है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक पार्टी उदित राज को इस बार यूपी की किसी सीट से आजमा सकती है। इसी प्रकार हरियाणा में केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर और राव इंद्रजीत के अलावा किसी सांसद की रिपोर्ट ठीक नहीं है। पार्टी यहां योगेश्वर दत्त, अरविंद शर्मा और रणवीर गंगवा को नए चेहरे के तौर पर आजमाएगी।

बागी, बुजुर्ग और नाकारे बने निशाना

पार्टी द्वारा अब तक जारी 286 उम्मीदवारों की सूची में बागी सांसदों, बुजुर्गों और रिपोर्ट में नाकारा पाए गए सांसदों से दूरी बनाई है। बागी सांसदों में शत्रुघ्र सिन्हा, कीर्ति आजाद टिकट पाने में नाकाम रहे हैं। जबकि बुजुर्गों में लालकृष्ण आडवाणी, शांता कुमार, करिया मुंडा, भगत ङ्क्षसह कोश्यारी, बीसी खंडूरी टिकट पाने में नाकाम रहे हैं। पार्टी अब तक यूपी में 6, हिमाचल प्रदेश-उत्तराखंड में दो-दो, बिहार में 8, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र में 5-5 सांसदों, असम से तीन सांसदों को टिकट से वंचित कर चुकी है।

सुमित्रा-जोशी पर फैसला आज

गुजरात से परेश रावल पहले ही चुनाव लडने से इंकार कर चुके हैं। जबकि बुजुर्ग नेताओं में शामिल मुरली मनोहर जोशी और लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन के भविष्य का फैसला सोमवार को होगा। कलराज मिश्र, सुषमा स्वराज और उमा भारती पहले ही चुनाव लडने से इंकार कर चुके हैं।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button