जानिए, लक्ष्मी को मुट्ठी में करने का अचूक चमत्कारी उपाय

- in धर्म

सावन शुक्ल चतुर्दशी पर वर-वरद लक्ष्मी व्रत व पर्व मनाया जाएगा। वरलक्ष्मी पर्व श्रावण पूर्णिमा से ठीक पहले आने वाले शुक्रवार को मनाया जाता है। शास्त्रों की आज्ञा के अनुसार इस पर्व में व्रत का पालन विवाहित स्त्री-पुरुष ही कर सकते हैं। कुंवारी कन्याओं के लिए यह व्रत करना वर्जित है। जोड़े से इस व्रत का पालन सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। वरलक्ष्मी पर्व व व्रत से आठ प्रकार की सिद्धियां प्राप्त होती हैं। ये हैं श्री, भू, सरस्वती, प्रीति, कीर्ति, शांति, संतुष्टि व पुष्टि। अतः वरलक्ष्मी व्रत करने से व्यक्ति के जीवन में धन, संपत्ति, ज्ञान, प्रेम, प्रतिष्ठा, शांति, संपन्नता व आरोग्यता आती है।

वरलक्ष्मी की उत्पत्ति क्षीरसागर से हुई है। गौर वर्ण की वरलक्ष्मी दूध के समान श्वेत वस्त्र धारण किए हैं। वरलक्ष्मी पूजन से अष्टलक्ष्मी की पूजा के समान फल मिलता है। इस दिन लक्ष्मी पूजा दीपावली की तरह करते हैं। वर का अर्थ है वरदान व लक्ष्मी का अर्थ है धन-वैभव। वरलक्ष्मी पर्व का पूजन स्थिर लग्न में करना शुभ माना गया है। धन, वैभव, संपन्नता, समृद्धि, सुख, संपत्ति व अखंड लक्ष्मी की प्राप्ति के लिए शास्त्रों में इस दुर्लभ वरलक्ष्मी पर्व का उल्लेख है। अतः वरलक्ष्मी पर्व के पूजन, व्रत व उपाय से परिवार को संपन्नता की प्राप्ति होती है। जीवन से अभाव और आर्थिक संकट दूर होते हैं।

स्पेशल पूजन विधि: घर की उत्तर-पश्चिम दिशा में सफ़ेद कपड़ा बिछाकर लक्ष्मी जी का चित्र व श्रीयंत्र स्थापित कर षोडशोपचार पूजन करें। गौघृत में इत्र मिलाकर दीपक करें, चंदन की धूप जलाएं, अबीर चढ़ाएं, चांदनी के फूल चढ़ाएं, मावे की बर्फी का भोग लगाएं, सफ़ेद वस्त्र चढ़ाएं, मिश्री व मलाई चढ़ाएं और 108 बार विशिष्ट मंत्र जपें। इसके बाद भोग गरीबों में बाटें।

स्पेशल मंत्र: ऐं ह्रीं श्रीं वरलक्ष्मेय नमः॥

स्पेशल स्थिर कुंभ लग्न मुहूर्त: शाम 18:25 से शाम 19:52 तक (संध्या)

स्पेशल स्थिर वृष लग्न मुहूर्त: रात 22:52 से रात 00:48 (निशिता)

उपाय चमत्कार:

गुड हैल्थ के लिए: वरलक्ष्मी पर चढ़ी मुलतानी मिट्टी से तिलक करें।

गुडलक के लिए: वरलक्ष्मी पर चढ़े कमल गट्टे तिजोरी में रखें।

विवाद टालने के लिए: वरलक्ष्मी पर नारियल चढ़ाकर किसी कन्या को दान करें।

नुकसान से बचने के लिए: वरलक्ष्मी पर सफ़ेद कनेर के फूल चढ़ाएं।

प्रोफेशनल सक्सेस के लिए: वरलक्ष्मी पर कमल का फूल चढ़ाएं।

एजुकेशन में सक्सेस के लिए: वरलक्ष्मी पर तुलसी पत्र चढ़ाकर किसी किताब में रखें।

बिज़नेस में सफलता के लिए: वरलक्ष्मी पर चढ़ा चांदी का सिक्का गल्ले में रखें।

पारिवारिक खुशहाली के लिए: वरलक्ष्मी की कर्पूर जलाकर आरती करें।

लव लाइफ में सक्सेस के लिए: वरलक्ष्मी पर रातरानी का इत्र चढ़ाएं।

मैरिड लाइफ में सक्सेस के लिए: वरलक्ष्मी दंपत्ति “ॐ श्रीं श्रीये नमः” मंत्र का जाप करें।

अचूक टोटके

पारिवारिक संपन्नता के लिए: संध्या काल में घर के मध्य में शुद्ध घी का आटे का 15 मुखी दीपक करें।

जीवन से अभाव दूर करने के लिए: वरलक्ष्मी पर नवधान चढ़ाकर गाय को खिलाएं।
आर्थिक संकट दूर करने के लिए: वरलक्ष्मी पर 15 कौड़ियां चढ़ाकर तिजोरी में रखें।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

तो इसलिए 14 सालों तक सोती रही लक्ष्मण की पत्नी

महर्षि वाल्मीकि की रामायण में भगवान राम,माता सीता,भाई