जहानाबाद में मां दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन के दौरान खूनी संघर्ष, जिले को सील कर धारा 144 किया लागू

विसर्जन जुलूस पर पथराव से प्रतिमा क्षतिग्रस्त होने पर बुधवार की देर रात दो पक्षों के बीच हुई हिंसक झड़प गुरुवार को भी जारी रही। पथराव के साथ शरारती तत्वों ने कई स्थानों पर आगजनी की और दुकानों में तोडफ़ोड़ तथा लूटपाट की। इस दौरान सड़क पर खड़ी कई बाइक में आग लगा दी गई। रोड़ेबाजी में छह से ज्यादा लोग घायल हैं।

Loading...

उपद्रव के बाद तनाव की जानकारी मिलते ही एडीजी लॉ एंड ऑर्डर अमित कुमार व आइजी पारसनाथ रैफ जवानों तथा भारी पुलिस बल के साथ पहुंचे तब जाकर उपद्रवी भागे। दोनों अधिकारियों ने माहौल को सामान्य बनाने के लिए आवश्यक निर्देश दिए।

उपद्रव के बाद तनाव की जानकारी मिलते ही एडीजी लॉ एंड ऑर्डर अमित कुमार व आइजी पारसनाथ रैफ जवानों तथा भारी पुलिस बल के साथ पहुंचे तब जाकर उपद्रवी भागे। दोनों अधिकारियों ने माहौल को सामान्य बनाने के लिए आवश्यक निर्देश दिए।

इसके पूर्व डीएम नवीन कुमार, एसपी मनीष, डीडीसी मुकुल कुमार गुप्ता, एसडीओ निवेदिता कुमारी, एसडीपीओ प्रभात भूषण श्रीवास्तव आदि मामला शांत कराने में लगे थे। स्थिति बिगड़ते देख शहर को पुलिस छावनी में तब्दील कर धारा 144 लागू कर इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई थी।

शांति स्थापित करने के लिए अधिकारियों ने पुलिस बल के साथ फ्लैग मार्च भी किया। संवेदनशील स्थानों पर प्रशासन विशेष चौकसी बरत रहा है। शांति का प्रयास वरीय अधिकारी कर रहे हैं।

इसके पूर्व डीएम नवीन कुमार, एसपी मनीष, डीडीसी मुकुल कुमार गुप्ता, एसडीओ निवेदिता कुमारी, एसडीपीओ प्रभात भूषण श्रीवास्तव आदि मामला शांत कराने में लगे थे। स्थिति बिगड़ते देख शहर को पुलिस छावनी में तब्दील कर धारा 144 लागू कर इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई थी। शांति स्थापित करने के लिए अधिकारियों ने पुलिस बल के साथ फ्लैग मार्च भी किया। संवेदनशील स्थानों पर प्रशासन विशेष चौकसी बरत रहा है। शांति का प्रयास वरीय अधिकारी कर रहे हैं।

क्या है मामला 

बुधवार की देर शाम विभिन्न पूजा पंडालों से मां दुर्गा की प्रतिमा लेकर श्रद्धालु विसर्जन के लिए जा रहे थे। श्रद्धालुओं का आरोप है कि इसी दौरान किसी शरारती तत्व ने प्रतिमा पर पत्थर फेंककर उसे क्षतिग्रस्त कर दिया। इसके बाद दोनों पक्षों में रोड़ेबाजी होने लगी। श्रद्धालुओं ने शरारती तत्वों की गिरफ्तारी होने तक मूर्ति विसर्जन नहीं करने का निर्णय लिया।

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *