जरुरी खबर: जल्दी से निपटा लें अपना काम, 8 दिन तक बंद रह सकते हैं बैंक, जानिए क्यों?

8 मार्च से पहले आप बैंक से जुड़े का निपटा लें नहीं तो होली की छुट्टी और मस्ती के इस त्योहार में खलल पड़ सकता है। होली की छुट्टी और बैंक यूनियनों की प्रस्तावित हड़ताल से करीब आठ दिन लगातार बैंक बंद रह सकते हैं। इससे ग्राहकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। दरअसल सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के कर्मचारी 11 से 13 मार्च तक तीन दिनी हड़ताल पर जा सकते हैं। नौ और दस फरवरी को होली की छुट्टी है। इससे पहले आठ फरवरी को रविवार के कारण बैंक बंद होंगे।

Loading...

इसका मतलब यह हुआ कि अगर 11-13 मार्च को बैंक कर्मचारी हड़ताल पर जाते हैं तो बैंक लगातार 8 दिन बंद रह सकते हैं। इसकी वजह है कि ​तीन दिन की हड़ताल के बाद 14 मार्च को महीने का दूसरा शनिवार और उसके बाद 15 मार्च को रविवार पड़ रहा है, यानी अगर हड़ताल हुई तो बैंकों में लगातार 8 दिन तक कामकाज प्रभावित रहेगा।

ये हैं मार्च में बैंकों की छुट्टियों की लिस्ट                                                                                                                                                                                                                                                                                                                             

छुट्टियां तारीख
Chapchar Kut 6
Holika/Doljatra/Holi/Birthday of Md. Hazarat Ali 9
Holi (Second Day)/Dhuleti/Yaosang 2nd Day 10
Holi 11
Gudhi Padwa/Ugadi Festival/Telugu New Years Day/Sajibu Nongmapanba (Cheiraoba)/1st Navratra 25
Sarhul 27

कुल 16 दिन बंद रह सकते हैं बैंक 

वहीं अगर मार्च में छुट्टियों की बात करें तो आरबीआई के मुताबिक इस महीने बैंकों में 6 छुट्टियां पड़ रही हैं। इसके अलावा दूसरे और चौथे शनिवार को मिलाकर कुल 7 सप्ताहिक छुट्टियां पड़ रही हैं। यानी मार्च में कुल 13 दिन बैंक बंद रहेंगे। अगर हड़ताल होती है तो कुल 16 दिन बैंक बंद रहेंगे। बता दें सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के कर्मचारियों की सैलरी को हर पांच साल पर रिवाइज किया जाता है। पिछली बार बैंक कर्मचारियों की सैलरी को 2012 में रिवाइज किया गया था। इसके बाद 2017 में होने वाला रिवीजन पेंडिंग है। इसी को लेकर कर्मचारी हड़ताल कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: जज ने की PM मोदी की तारीफ, तो विरोध में उतरे लोग

हीं मानी मांगें तो 1 अप्रैल से अनिश्चितकालीन हड़ताल

बैंक यूनियनों ने इंडियन बैंक्स एसोसिएशन के साथ सैलरी में रिवीजन को लेकर बातचीत की थी, लेकिन यह बेनतीजा रही। बैंक इंप्लॉइज फेडरेशन ऑफ इंडिया (BEFI) और ऑल इंडिया बैंक इंप्लॉई एसोसिएशन (AIBEA) कर्मचारियों की अगुवाई कर रही हैं। बैंक यूनियनों का यह भी कहना है कि अगर उनकी ​मांगों को नहीं माना गया तो वे 1 अप्रैल से अनिश्चितकालीन देशव्यापी बैंक हड़ताल करेंगे।

इस साल 2 बार हो चुकी है बैंक हड़ताल

मार्च में अगर बैंक कर्मचारियों की हड़ताल होती है तो यह इस साल अब तक की तीसरी बैंक हड़ताल होगी। इससे पहले 8 जनवरी को भारत बंद के दौरान बैंक यूनियनों मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ एक दिन की हड़ताल का आह्वान किया था। इसके बाद 31 जनवरी और 1 फरवरी को हड़ताल रही।

loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *