जनरेटर की चपेट में आने से दस वर्षीय बच्‍ची के मांस समेत उखड़े बाल, पढ़े पूरी खबर

दस वर्षीय ब’ची के बाल उड़कर जनरेटर की चपेट में आ गए। ऐसे में सिर की स्किन समेत बाल उखड़ गए। खून से लथपथ ब’ची को लेकर परिवारीजन केजीएमयू आए। यहां ऑपरेशन के बाद उसकी मौत हो गई। परिजनों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाकर हंगामा किया।

Loading...

गोरखपुर के पीपी गंज निवासी रितु (10) अग्रहरि परिवारजनों के साथ मूर्ति विसर्जन करने ट्रैक्टर-ट्रॉली से जा रही थी। इस दौरान मूर्ति में लाइटिंग के लिए ट्रॉली में जनरेटर भी चल रहा था। इस दौरान सड़क खराब होने पर ट्रॉली ने हिचकोला लिया। ऐसे में रितु भी लड़खड़ा गई। रितु के बाल उखड़कर जनरेटर की चपेट में आ गए। ऐसे में ट्रॉली में बैठे लोगों ने रितु को पकड़कर खींचा। परिवारीजन पवन व दुर्गेश के मुताबिक जनरेटर ने रितु के सिर से स्किन, मांस समेत बाल खींच लिए। ऐसे में खून से लथपथ रितु को परिजन लेकर गोरखपुर मेडिकल कॉलेज पहुंचे। यहां उसे ट्रॉमा सेंटर रेफर किया गया।

10 घंटे बाद शुरू किया ऑपरेशन

पवन के मुताबिक बुधवार सुबह चार बजे रितु को लेकर ट्रॉमा सेंटर पहुंचे। यहां भर्ती कर इलाज शुरू किया गया। वहीं, ऑपरेशन के लिए प्लास्टिक सर्जरी विभाग भेजा गया। यहां दो बजे ऑपरेशन शुरू किया गया। परिवारीजन का आरोप है कि समय से ऑपरेशन नहीं किया गया।

सांस उखड़ती रही, नहीं आया स्टाफ 

पवन के मुताबिक रितु को ऑपरेशन के बाद आइसीयू के बजाय वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया। इस दौरान गुरुवार 11 बजे उसकी हालत बिगडऩे लगी। उसे सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। कई बार स्टाफ को बुलाया, मगर नहीं आया। दो बजे उसकी मौत हो गई। इसके बाद स्टाफ आया। ऐसे में परिजनों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाकर हंगामा किया। वहीं केजीएमयू प्रवक्ता डॉ. संदीप तिवारी ने बताया क‍ि घटना की जानकारी नहीं है। यदि कोई शिकायत करता है, तो मामले की जांच करवाई जाएगी।

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *