छेड़खानी से आहत छात्रा ने की खुदकुशी, दिखा नही एंटीरोमियो स्क्वाड का ख़ास असर

यूपी में योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद जहां मनचलों के खिलाफ विशेष अभियान चल रहा है, वहीं कौशांबी जिले में छेड़खानी और पुलिस के रवैये से तंग आकर एक छात्रा ने  कर ली.यूपी के कौशांबी जिले की इस घटना ने सरकार और पुलिस के तमाम दावों पर सवाल खड़े कर दिए हैं. इस मामले में प्रशासन ने थाना प्रभारी समेत तीन लोगों को सस्पेंड कर दिया है.यूपी के नए मुख्यमंत्री महिलाओं की सुरक्षा की गारंटी ले रहे हैं. कमोबेश नई सरकार का हर मंत्री अपराधियों पर लगाग लगाने का दावा कर रहा है. ठीक उसी वक्त सूबे के कौशांबी में एक छात्रा ने छेड़खानी से तंग आकर जान दे दी. पिपरी थाना के गांजा गांव में रहने वाली रचना सिंह रामभजन डिग्री कॉलेज में बीए सेकेंड ईयर की छात्रा थी. पिछले तीन दिनों से कुछ लड़के उसे तंग कर रहे थे.उसके कहने पर घर वालों ने पुलिस में शिकायत भी की लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई. उल्टे दूसरे दिन रचना के घर वालों के खिलाफ ही मामला दर्ज कर लिया गया. इससे हताश होकर छात्रा ने खुदकुशी कर ली. छात्रा की खुदकुशी के बाद हड़कंप मच गया. पुलिस नींद से जाग गई. थाना प्रभारी समेत तीन लोगों को सस्पेंड कर दिया है. लेकिन लड़की की मौत कई सारे सवाल खड़े कर गई.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button