चीन के वाटर किंग कहे जाने वाले उद्योगपति झोंग शानशान एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति बने

बाजार पूंजीकरण के लिहाज से देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) ने साल 2020 में 47,000 करोड़ रुपये से ज्यादा धन जुटाया है। लेकिन रिलायंस के मालिक मुकेश अंबानी को पछाड़कर चीन के वाटर किंग कहे जाने वाले उद्योगपति झोंग शानशान एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं।

झोंग शानशान की कुल संपत्ति इस साल 70.9 अरब डॉलर बढ़कर 77.8 अरब डॉलर हो गई है। यानी उन्होंने चीन के सबसे अमीर व्यक्ति और अलीबाबा के जैक मा को भी पछाड़ दिया है। शानशान बोतल बंद पानी और कोरोना का टीका बनाने जैसे कारोबार से जुड़े हैं।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link

चूंकि झोंग शानशान एक निजी अरबपति हैं, उनके बारे में मीडिया में चर्चा कम हुई है। उन्होंने अपने जीवन में पत्रकारिता, मशरूम की खेती और स्वास्थ्य सेवा जैसे काम किए हैं। झोंग ने चीनी प्रौद्योगिकीविदों के एक समूह को गले लगाया है, जिसमें मुकेश अंबानी और जैक मा शामिल हैं।

ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स के मुताबिक, साल 2020 में झोंग की संपत्ति बढ़कर 77.8 अरब डॉलर हो गई है। एक ओर जहां कोरोना वायरस महामारी के चलते दुनिया की आर्थिक स्थिति बिगड़ी है और कारोबारियों को मोटा नुकसान हुआ है, वहीं दूसरी ओर झोंग शानशान की दौलत इस साल बहुत तेजी से बढ़ी है, जिसकी वजह से वह एशिया के सबसे अमीर कारोबारी बन गए हैं। 66 वर्षीय झोंग को चीन में लोन वुल्फ के तौर पर भी जाना जाता है।

दरअसल अप्रैल में उन्होंने बीजिंग वेन्टाई बायोलॉजिकल फार्मेसी एंटरप्राइज कंपनी से वैक्सीन विकसित की और कुछ महीनों बाद बोतलबंद पानी बनाने वाली नोंगफू स्प्रिंग कंपनी हांगकांग में सबसे लोकप्रिय में से एक बन गई। इसलिए इस साल उनकी संपत्ति में जोरदार इजाफा हुआ।

अलीबाबा के सह संस्थापक जैक मा की संपत्ति में पिछले दो माह के दौरान 1,010 करोड़ डॉलर (74,740 करोड़ रुपये) की गिरावट आई है। मा की संपत्ति अक्तूबर के अंत में 6,100 करोड़ डॉलर (4.51 लाख करोड़ रुपये) थी। लेकिन अब उनकी संपत्ति घटकर 5,090 करोड़ डॉलर (करीब 3.77 लाख करोड़ रुपये) हो गई है। वे ब्लूमबर्ग की टॉप-500 अमीरों की सूची में फिसलकर 25वें स्थान पर आ गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button