घर लाएं यह चीजें अगर चाहते है किस्मत चमकाना

1462527214-4926कहते हैं कि जब माता लक्ष्मी उत्पन्न हुई थीं तब उनके साथ कुछ और भी ऐसी चीजें उत्पन्न हुई थी जिसे घर में स्थापित करने से घर में लक्ष्मी का वास होता है, खुशियां आती हैं और सभी परेशानियां दूर होती है। यही कारण हैं कि हिंदू धर्म के लोग अपने घरों में घर की बाधा तथा वास्तु दोष दूर करने वाली मांगलिक चीजों को लाकर सजाकर रखते हैं। कुछ मांगलिक चीजों के बारे में हमें पता होता है तो कुछ के बारे में नहीं।

हम आपको कुछ ऐसे मंगल प्रतीकों के बारे में बता रहें हैं जनके बारे में आपको पता नहीं है और जिनको अपने घर में स्थापित करने से धन, समृद्धि और सुख की प्राप्ति होती है। 

घर में लाये ये प्रमुख चीजें।

  • ऊं का घर में होना बहुत ही शुभ माना जाता है। इसका इस्तेमाल अक्सर स्वास्तिक के साथ किया जाता है। यह मंगलकर्ता ऊं ब्रह्म और गणेश जी का प्रतीक माना जाता है। बहुत से लोग पीतल, तांबा या फिर अष्टधातु का ओम बनाकर घर के द्वार के ऊपर लगाते हैं।
  • इसका दूसरा मांगलिक प्रतीक है स्वास्तिक। स्वास्तिक को शक्ति, सौभाग्य, समृद्धि का प्रतीक माना जाता है। सभी मांगलिक कार्यों में इसे बनाकर ही किसी भी काम की शुरुआत की जाती है। स्वास्तिक के बाएं तरफ गणेश जी की शक्ति का बीजमंत्र ‘गं’ होता है। इसमें की चार बिन्दुयों में गौरी, पृथ्वी, कच्छप और अन्य कई देवताओं का वास होता है।
  • मंगल कलश को ईशान भूमि पर रोली, कुमकुम से अष्टदल कमल की आकृति बनाकर उस पर यह मंगल कलश रखा जाता है। वहीं दूसरी ओर यह कहा जाता है कि इसे तांबे के कलश में जल भरकर उसमें कुछ आम के पत्ते डालकर उसके मुख पर नारियल रखने से घर में समृद्धि आती है। साथ ही कलश पर रोली से स्वास्तिक का चिन्ह बनाकर उसके गले पर मौली बांधी जाती है।
  • शंख की पूजा और दर्शन करने से अनेक लाभ मिलते हैं। घर में रोज शंख बजाने से सेहत को लाभ मिलता है वहीं घर का वातावरण भी शुद्ध होता है और वहीं इसके रहने से आयु वृद्धि, लक्ष्मी वृद्धि, पुत्र प्राप्ति, पितृ दोष शांति, विवाह आदि की रुकावट दूर होती है।
  • लक्ष्मी कौड़ी कहते हैं पीले रंग की कौड़ी को कहते हैं। कुछ सफेद कौड़ियों को केसर या हल्दी के घोल में भिगोकर उसे लाल कपड़े में बांधकर घर में तिजोरी में रख दें। दौ कौड़ियों को खुद की जेब में भी हमेशा रखें इससे धन का लाभ होगा।
  • बांसुरी घर में मौजूद वास्तुदोष को खत्म करने में मदद करता है। वहीं बांस की बनी हुई बांसुरी ज्यादा अहमियत रखती है। यह उन्नति और प्रगति का भी सूचक है। अपने घर के प्रवेश द्वार के दरवाजे पर दो बांसुरी क्रॅास करके लगाने से मुसीबतों से काफी हद तक पीछा छूट जाता है।
  • वंदनवार आम या पीपल के नए पत्तों की माला को कहते हैं। इसे अक्सर दीपावली के दिन घर के द्वार पर बांधकर रखा जाता है। कहते हैं कि इसे हमेशा बांधकर रखना शुभ फलदाई होता है। इसे घर में बांध के रखने से घर में एकता और शांती बनी रहती है।
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button