चाय डिलीवर करके खड़ी की 30 बिलियन डॉलर की टी इंडस्‍ट्री

tea_05_10_2015अपनी इनोवेटिव टेक्नोलॉजी और सप्लाय चेन के साथ दो साल पुराने ई-कॉमर्स स्टार्ट-अप ‘टीबॉक्स’ ने 30 बिलियन डॉलर की टी इंडस्ट्री खड़ी कर ली है। इन्होंने माइक्रोनेशिया, चिली, अर्जेंटीना और ईराक जैसे 90 दशाओं में अब तक अपनी 30 मिलियन कप चाय डिलीवर की है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाल ही में हुए सिलिकॉन वैली विजिट के दौरान मार्क जकरबर्ग ने अपनी सोशल मीडिया प्रोफाइल पिक को तिरंगे के रंगों से ढंक लिया था। इसी दौरान हमारे तेजी से डिजिटल और ग्लोबल होने पर भी खूब बातें भी हुईं। इसी तर्ज पर ‘टीबॉक्स’, एक ई-कॉमर्स स्टार्टअप, भी देसी चाय को तेजी से ग्लोबल कंज्यूमर तक ले जा रहा है।

TEA OFF

टी-इंडस्ट्री सबसे पुरानी इंडस्ट्रियों में से एक है और ‘टीबॉक्स’ इस इंडस्ट्री को सिलिकॉन वैली मेकओवर देना चाहता है। ऐसा मानना है ‘टीबॉक्स’ के सीईओ, कौशल दूगड़ का। वे आगे बताते हैं मैं सिलीगुड़ी में पैदा हुआ जो दार्जलिंग डिस्ट्रिक्ट का ही शहर है। जब आप सिलीगुड़ी में रहते हैं तो चाय से संबंधित कोई काम तो आप करेंगे ही क्योंकि यहां चाय का बहुत बड़ा कारोबार है। मेरे पिताजी का बिजनेस भी टी-गार्डन सप्लाय और इक्विपमेंट से रिलेटेड था।

जब मैं छोटा था तो छुटि्टयों में उनके साथ विजिट्स पर जाता था। मुझे बहुत अच्छा लगता था। एस्टेट फैक्ट्री की बड़ी-बड़ी मशीने मुझे बेहद प्रभावित करती थीं। मुझे ये किसी जादू से कम नहीं लगता था, जहां एक हरी पत्ती देखते ही देखते स्वादिष्ट ड्रिंक में बदल जाती थी।

WHATS DIFFERENT

टीबॉक्स में हम टी गार्डन विजिट करते हैं और पत्तियों को सूंघ कर चुनते हैं। सभी चाय फ्रेश बनी रहें इसके लिए इन्हें वैक्यूम पैक किया जाता है। हमारी चाय दार्जलिंग के बेस्ट टी गार्डन से चुनी जाती हैं। असम, नीलगिरी, कंगला, सिक्किम और नेपाल के टी गार्डन से भी चाय चुनते हैं। हम चाहते हैं कि हमारे कस्टमर्स ये जाने कि हम उनके लिए कहां से चाय लेकर आते हैं। प्लकिंग डेट्स, टेस्टिंग नोट्स, गार्डन डीटेल की जानकारी भी देते हैं। हम प्रीमियम चाय की पहचान बेहद आसान, सभी की पहुंच के अंदर और साथ ही मजेदार भी बनाना चाहते हैं।

NEW AGE

हाल ही में हमारी कंपनी ने दुनिया की पहली ‘पर्सनलाइज्ड टी सब्सक्रिप्शन सर्विस’ शुरू की है। यहां कंपनी ने हर कस्टमर के अलग-अलग टेस्ट को ध्यान में रखते हुए चाय तैयार की है। ये टीबॉक्स सब्सक्रिप्शन प्रोग्राम टी ड्रिंकर्स को वही चाय लाकर देगा जिसे वे एन्जॉय करते हैं या करना चाहते हैं। इस प्रोग्राम के तहत चाय को कई मायनों में परखा जाता है। जैसे एरोमा, स्ट्रेंथ, बॉडी वगैरह।

HOW IT WORKS

टी एस्टेट अपने टी सैम्पल हमारे एक्सपर्ट टी टेस्टिंग टीम को भेजते हैं। हमने बेहद पुख्ता क्वालिटी चेकिंग एनवायरनमेंट भी बनाया हुआ है जहां इस बात की पुष्टि की जाती है की चाय केवल प्रीमियम क्वालिटी की ही बिके। इसे फिर ह्यूमिडिटी कंट्रोल्ड टेम्पेरचर में स्टोर किया जाता है। इस बात का पूरा ध्यान रखा जाता है कि बायर्स तक उनके टी-पैक्स तीन से चार दिन के अंदर पहुंच जाएं।

AROUND THE WORLD

टीबॉक्स मुख्य रूप से इंग्लिश बोलने वाले डेवलप्ड मार्केट ही टारगेट करता है। जैसे यूएस, यूके, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया। आगे इनकी प्लानिंग चाइना, जापान और साऊथ कोरिया तक पहुंचने की भी है।

MATCH THIS

कॉम्पिटिशन और चैलेन्ज की बात करें तो दूगड़ कहते हैं ‘आप हाय एंड टी सैलून से हमें कम्पेयर कर सकते हैं। हम ऐसे सेगमेंट में रहते हैं जो अवसर देने में कभी देर नहीं करता। ये सेगमेंट बेहद कॉम्पिटिटिव है इसमें कोई शक नहीं। हमें अपने कस्टमर्स को ध्यान में रखते हुए बेहद इनोवेटिव होना ही पड़ता है जिससे केवल जेन्युइन बायर्स ही हम तक पहुंच सकें और हम अपने कंज्यूमर्स को जेन्युइन फायदे दे सकें।

बहुत से लोगों ने हमें चैलेन्ज किया था कि चाय ऑनलाइन नहीं बिक सकती। ये ऐसा प्रोडक्ट है जिसे लोग खरीदने से पहले सूंघकर और छूकर देखते हैं। इस माइंडसेट को बदलना हमारे लिए सबसे बड़ा चैलेन्ज था। हम मानते हैं कि अगर कॉफी और वाइन ऑनलाइन बिक सकती है तो चाय कैसे नहीं बिकेगी!’

 
 
 

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button