चमत्कारिक वस्तुओं को देखने आए ज्योतिषाचार्य का हुआ अपहरण, पूर्व भाजपा नेता समेत तीन लोग हुए गिरफ्तार

चमत्कारी बक्सा देखने मध्यप्रदेश से आए ज्योतिषाचार्य और उनके चालक का अपहरण हो गया और उनकी पत्नी से एक करोड़ की फिरौती की मांग की गई। एसपी कानपुर देहात के निर्देशन में जांच कर रही पुलिस ने पूर्व भाजपा नेता समेत तीन लोगों को को गिरफ्तार करके अपहरण का पर्दाफाश किया और ज्योतिषाचार्य और चालक को सकुशल मुक्त कराया है। इतना ही ज्योतिषाचार्य के बैंक खाते से जबरन सवा दो लाख रुपये भी निकाले जाने की पुष्टि हुई है।

मध्यप्रदेश के खंडवा थाना रामनगर चीरखदान ब्लाक नंबर 22 में रहने वाले सुशील तिवारी ज्योतिषाचार्य हैं और चमत्कारिक वस्तुओं को देखकर उनके बारे में जानकारी देते हैं। कानपुर देहात अकबरपुर निवासी भाजपा के पूर्व जिला मंत्री सत्यम चौहान ने उनसे फोन पर संपर्क किया और एक चमत्कारिक बक्सा मिलने की जानकारी दी। सत्यम ने उनसे कानपुर देहात आकर बक्सा देखने का अाग्राह किया। इसपर सुशील तिवारी अपनी कार से चालक सुनील के साथ 19 जुलाई को कानपुर देहात अकबरपुर के नबीपुर आ गए और फोन पर उन्हें यहां पहुंचने की जानकारी दी। इसके बाद वह चालक और कार समेत रहस्यमय ढंग से लापता हो गए। 

उधर, फोन स्विच ऑफ होने और संपर्क न हो पाने पर मध्य प्रदेश चीरखदान में पत्नी रानी चिंतित हो गईं। कुछ देर बार रानी के पास ज्योतिषाचार्य पति के अपहरण होने और एक करोड़ फिरौती की मांग की फोन काॅल पहुंची। फिरौती की रकम न मिलने पर जान से मारने की धमकी दी। इससे घबराई पत्नी रानी ने मध्य प्रदेश के रामनगर पुलिस से संपर्क किया तो खंडवा पुलिस ने एसपी कानपुर देहात को अपहरण का पूरा घटनाक्रम बताया। एसपी अनुराग वत्स ने तत्काल सीओ अकबरपुर संदीप सिंह और एसओ तुलसीराम पांडेय के नेतृत्व में अपहरण का पर्दाफाश करने के निर्देश।

पुलिस टीम ने सबसे पहले भाजपा नेता की तलाश शुरू की लेकिन वह नहीं मिला तो संदेह गहरा गया। इस दौरान अपहरणकर्ताओं ने सुशील तिवारी के एटीएम से 2.35 लाख रुपये भी निकाल लिए। इसके बाद सर्विलांस टीम की मदद से मोबाइल कॉल और टावर फिल्टरेशन से पुलिस को अपहर्ताओं की लोकेशन की जानकारी हुई। पुलिस टीम ने मंगलवार को रनियां के एक मकान में दबिश देकर अपहर्ता सत्यम चौहान, रोहित व पंकज को गिरफ्तार कर लिया और ज्योतिषाचार्य सुशील तिवारी और उसके चालक सुनील को मुक्त कराया।

एसपी अनुराग वत्स ने बताया कि पुलिस टीम ने दो दिन के अंदर अपहरण की घटना का पर्दाफाश कर दिया गया, अपहृत हुए मध्यप्रदेश के सुशील तिवारी और उनके कार चालक को सकुशल मुक्त कराया गया है। अपहरण करने वालों ने ज्योतिषाचार्य की कार को एक मकान के बेसमेंट में छिपा दिया था। अपहरण के लिए इस्तेमाल की गई टीयूवी कार को पेट्रोल पंप के पास सीसीटीवी कैमरे के सामने खड़ा कर दिया गया था ताकि कोई शक न करे। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार सत्यम चौहान और उसके साथी पंकज ने ज्योतिषाचार्य का एटीमएम इस्तेमाल करके बैंक खाते से रुपये भी निकाले हैं, उनका साथी रोहित पश्चिमी दिल्ली रोहिणी का रहने वाला है और घटना में उसने अपनी कार भी इस्तेमाल किया था। अपहरण में शामिल अन्य लोगों के बारे में पता लगाया जा रहा है।

भाजपा कानपुर देहात जिलाध्यक्ष अविनाश चौहान का कहना है कि सत्यम चौहान को पार्टी से एक माह पहले कार्यकर्ताओं से अभद्रता करने के मामले में बाहर निकाल दिया गया था और सदस्यता भी समाप्त की जा चुकी है, मौजूदा समय में उसका पार्टी से कोई संबंध नहीं है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button