गौतमबुद्धनगर में बड़े पैमाने पर शराब की तस्करी, 24 घंटे में 85 लाख की अवैध शराब जब्त

गौतमबुद्ध नगर की तीन थानों की पुलिस ने बीते 24 घंटे में 85 लाख रुपये की अवैध शराब जब्त की है. इसके साथ ही पुलिस ने शराब बनाने की एक अवैध फैक्ट्री का भी भंडाफोड़ किया है. इस फैक्ट्री में ब्रांडेड कंपनियों के नकली शराब बनाकर सप्लाई की जाती थी. पुलिस ने कुल चार शराब तस्करों को गिरफ्तार किया है.

Loading...

आरोपी सुनील कुमार और गौरव गुप्ता को बादलपुर थाने की पुलिस और एएसटी टीम ने दूसरे प्रांतों से अवैध शराब लाकर कारोबार करने और मिलावटी शराब बनाकर बेचने के दो आरोप में गिरफ्तार किया. पुलिस अधिकारियों के अनुसार एक सूचना पर बिसरख रोड स्थित कान्हा फार्म हाउस के पास देवेन्द्र यादव के गोदाम पर छापा मारा. छापेमारी के दौरान 40 खाली ड्रम, 180 लीटर अवैध शराब, 180 पेटी अरुणाचल मार्का शराब, 294 शराब की बोतलें, कांच के 200 पव्वे और 150 अद्धे, 15 खाली बोतलें बरामद की है, इनमें शराब भरी जा रही थी.

इसके अलावा 1100 ढक्कन, बोतलों की 72 सील, दो लीटर वाली पेप्सी, कोल्ड ड्रिंक की चार बोतलें जो शराब बनाने मे प्रयोग की जाती हैं, बरामद की गई. इसके अलावा 20 किलो यूरिया खाद जो शराब बनाने में प्रयोग की जाती है, 5000 लीटर की पानी की एक टंकी, कई नामी कंपनियों की शराब की बोतलें, 192 बैक साइड लेबल, 2260  अदद बार कोड, शराब की तीव्रता को नापने का कांच का पैमाना और थर्मामीटर और तस्करी में प्रयोग होने वाले 7 वाहन बरामद हुए हैं. उन्होंने बताया कि पकड़े गए अभियुक्तों के दो साथी मौके से फरार हो गए.

नोएडा के एसएसपी ने बताया कि गिरफ्तार सुनील कुमार और गौरव गुप्ता का एक संगठित गैंग है. ये अपने फरार साथियों सोनू गोयल और देवेन्द्र यादव के साथ मिलकर ग्रेटर नोएडा और आसपास के क्षेत्रों में दूसरे प्रांत की शराब और अपने गोदाम में बनाई गई मिलावटी शराब बेचने का कारोबार कर रहे थे. अपने चार पहिया छोटे वाहन वैगन आर, सैन्ट्रो आदि से ये लोग आसपास के क्षेत्रों में तस्करी करते थे. गोदाम का मालिक देवेन्द्र यादव भी इस काम में बराबर सहयोग करता था.

एक दूसरी घटना में जारचा थाने की पुलिस ने चेकिंग के दौरान चोना बार्डर मसूरी गाजियाबाद की ओर से आ रहे शराब तस्कर हरियाणा के सोनीपत निवासी मंजीत जाट पुत्र कर्मवीर को गिरफ्तार किया. पुलिस ने इसके कब्जे से एक ट्रक में लदी 500 पेटी व्हिस्की बरामद की. यह शराब अरुणाचल प्रदेश में बेचने के लिए थी. इसकी कीमत लगभग 30 लाख रुपये है. पूछताछ के दौरान ट्रक चालक मंजीत ने बताया कि उसकी मुलाकात मिंटू उर्फ मंता नाम के व्यक्ति से 2 दिन पहले पकौड़ा चौकी बहादुरगढ़ में एक ढाबे पर हुई थी. मिंटू उर्फ ने ही उसे यह ट्रक बहादुरगढ़ से बिहार बॉर्डर तक पहुचाने के लिये कहा था. इस काम के बदले वहां मिलने वाला ड्राइवर उसे 50 हजार रुपये देने वाला था.

तीसरी घटना में दादरी थाने की पुलिस ने चेकिंग के दौरान एनएच 91 लुहारली टोल डिवाइडर के पास से एक शराब तस्कर को गिरफ्तार किया है. इसकी पहचान हरियाणा के यमुना नगर निवासी अनिल के रुप में हुई है. पुलिस ने इसके कब्जे से एक ट्रक में लदी 1000 पेटी अवैध शराब बरामद की है. शराब की कीमत लगभग 35 लाख रुपये है.

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *