गांगुली ने क्यों कहा, ‘क्रिकेट का कोई रॉकेट साइंस नहीं है’

भारतीय क्रिकेट में इन दिनों कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का अपने बल्लेबाजी क्रम में बदलाव करने का मुद्दा छाया हुआ है। कुछ इसके समर्थन में हैं तो कुछ को यह ठीक नहीं भी लगता है। इस बीच क्रिकेट जगत में बंगाल टाइगर के नाम से विख्यात सौरव गांगुली ने इस कदम की सराहना की है। गांगुली मानते हैं कि भारतीय क्रिकेट टीम को जरूरत है कि धोनी नंबर चार पर बल्लेबाजी करे।ganguly

इंडिया टूडे से बातचीत में सौरव गांगुली ने बताया ‘वनडे क्रिकेट का कोई रॉकेट साइंस नहीं है। यह सामान्य थ्योरी है। आपकी टीम का जो बेस्ट बेट्समैन है। उसे ही सबसे ज्यादा गेंदबाजी का सामना कर विपक्षी टीम पर दबाव बढ़ाना होता है। मुझे उम्मीद है कि धोनी नंबर चार पर बल्लेबाजी करते रहेंगे। हालांकि मैं नहीं जानता हूं कि वो इस बात को आगे भी जारी रखेंगे या नहीं।’

सौरव ने कहा ‘मुझे लगता है कि अनिल कुंबले इस बारे में धोनी से जरूर बात करेंगे। इससे न सिर्फ धोनी के लिए राह आसान होगी बल्कि उनके बाद आने वाले बल्लेबाजों के लिए भी राहें आसान होगी। धोनी ने बीते तीन सालों में कोई शतक नहीं बनाया है। कारण कि वो किसी भी वनडे मैच में 40-50 बॉल ही खेलते हैं। ऐसा करके वो खुदकी प्रतिभा का नुकसान तो करते ही हैं साथ ही टीम के जीतने की उम्मीदों को भी कम कर देते हैं।’

सौरव ने बताया ‘हमेशा धोनी के लिए मैच फिनिशिंग की बात होती है। मगर यह काम तो उन्होंने मोहाली में भी किया। हो सकता है कि भारत कुछ रन दूर था और वो आउट हो गए। मगर नंबर चार पर धोनी ने शानदार खेल दिखाया। उनके बाद आए मनीष पांडे को केवल विराट का साथ देना था। खेल तो पूरा हो चुका था। यह अच्छी बात है कि धोनी अपने करियर के अंतिम दौर में आगे आकर खेल रहे हैं। मैं नहीं जानता हूं कि वो कितना खेलेंगे? मगर हां यह जरूरी है कि वो अपना क्रम यह बनाए रखें। साथ ही परफॉर्म करते रहें।’एक साल से भी ज्यादा समय के बाद धोनी ने अर्धशतक बनाया है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button