खिसकी हुई नाभि को सही जगह पर लाना है, तो अपनाएं ये 4 आसान उपाय

- in हेल्थ

नाभि खिसकने की समस्या को कुछ लोग नाभि का डिगना या धरण भी कहते हैं। कई बार कुछ कारणों से नाभि अपनी जगह से हट जाती है यानि खिसक जाती है। ऐसे में कई तरह की परेशानयां जैसे पेट में दर्द, उल्टी, कब्ज, जी मिचलाना आदि की समस्या हो जाती है। महिलाओं में ये समस्या होने पर पीरियड्स के समय सामान्य से ज्यादा ब्लड निकलता है। नाभि के खिसकने का मुख्य कारण भारी वजन उठाना, वजन लेकर झुकना, दुर्घटना आदि में अंगों का अचानक खिंचाव आदि है। ये समस्या बच्चों में ज्यादा पाई जाती है। हालांकि कुछ आसान घरेलू उपायों से इस समस्या से राहत पाई जा सकती है।खिसकी हुई नाभि को सही जगह पर लाना है, तो अपनाएं ये 4 आसान उपाय

लक्षण दिखने पर करें नाभि की जांच

नाभि खिसकने की पुष्टि करने के कुछ खास तरीके हैं। सबसे आसान तरीका है व्यक्ति को लेटकर नाभि के आसपास वाले स्थान पर उंगुलियों से दबाव डालें। यदि नाभि वाले स्थान के ठीक बिलकुल नीचे कोई अगर धड़कन महसूस हो तो इसका मतलब है कि नाभि अपने स्थान पर ही है। लेकिन यही धड़कन नाभि के नीचे महसूस ना होकर आसपास की जगह पर महसूस हो तो समझ जाएं कि, नाभि अपनी जगह में नहीं है।

मालिश करवाना

नाभि खिसकने पर ज्यादातर लोग इसे मालिश द्वारा ठीक करते हैं। हालांकि ये मालिश सामान्य मालिश की तरह नहीं होती है इसलिए इसे सब लोग नहीं कर सकते। कुछ लोगों को नाभि को मालिश के द्वारा सही जगह पर लाने का तरीका पता होता है। मालिश सिर्फ उन्हीं से करवनी चाहिए वर्ना अंजाम खतरनाक हो सकता है। नाभि के खिसकने पर ध्यान रखें कि भूलकर भी वजन ना उठायें। क्योंकि वजन उठाने से स्थिति गंभीर हो जाती है। यदि आसपास कोई नहीं है और सामान उठाना जरूरी है तो उसे झटके से ना उठाएं।

कूदना भी है इलाज

कई बार बड़े-बुजुर्ग नाभि के खिसक जाने पर कूदने की सलाह देते हैं क्योंकि कूदने से भी नाभि अपनी जगह पर आ जाती है। इसके लिए आपको लगभग 2 फीट की उंचाई (बेड या कुर्सी) से 2-3 बार कूदना होता है। कूधते समय यह ध्यान रखना चाहिए कि आपका पूरा वजन आपके पंजों पर पड़े बल्कि आप अलग से थोड़ा जोर लगाएं। इससे नाभि अपनी जगह पर आ जाती है।

गुड़ और सौंफ

नाभि को जगह पर लाने के लिए सौंफ का उपाय अपनाएं। इसके लिए 50 ग्राम गुड़ में 10 ग्राम सौंफ मिलाएं और सुबह खाली पेट अच्छी तरह चबा-चबाकर खाएं। ऐसा तीन दिन तक करें। इस उपाय से दो से तीन दिन में नाभि अपनी जगह में आ जाएगी।

योगासन द्वारा इलाज

नाभि के खिसक जाने पर कई योगासन भी इसे ठीक जगह ला सकते हैं जैसे- भुजंगासन, मत्स्यासन, कंधरासन, सूप्ता वज्रासन धनुरासन, मकरासन आदि। इस स्थिति में सभी तरह को योगासनों को करने से बचना चाहिए वर्ना स्थिति खतरनाक हो सकती है। केवल वही योगासन करें जिनसे गुदा के आसपास की मांसपेशियों पर दबाव पड़े। हालांकि इन योगासनों को करने से पहले भी किसी बड़े-बुजुर्ग से राय ले लें क्योंकि थोड़ी सी गलती से आपकी परेशानी बढ़ सकती है। भूल कर भी इस स्थिति में अपने शरीर के साथ कोई छेड़खानी ना करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सावधान: लगातार बैठने से इन बीमारियों को दे रहे है न्यौता

जब भी थक जाते है तो हम बैठने