अगर ऐसा हो जाए, तो क्रिकेट में 11 खिलाड़ियों को मिलेगा मैन ऑफ द मैच

जो लोग क्रिकेट काफी फॉलो करते हैं वे जानते होंगे कि एक ही टीम के या विपक्षी टीम के दो खिलाड़ियों को मैन ऑफ द मैच मिलना क्रिकेट में कई बार दोहराया जा चुका है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि दुनिया में ऐसे मैच भी हुए जब पूरी टीम को ही मैन ऑफ द मैच के पुरस्कार से नवाज़ा गया था? क्रिकेट के इतिहास में ऐसा महज़ दो बार हुआ है कि रेफरी ने मैन ऑफ द मैच एक या दो खिलाड़ियों को नहीं, बल्कि सभी 11 खिलाड़ियों को ये खिताब प्रदान किया था.

Loading...

1996 में न्यूज़ीलैंड और वेस्टइंडीज़ के बीच खेले गए इस मैच में न्यूज़ीलैंड ने बेहद धीमी पिच पर खराब शुरुआत करते हुए जल्दी जल्दी तीन विकेट गंवा दिए थे और बल्लेबाज़ी के लिए मुश्किल पिच पर न्यूज़ीलैंड केवल 158 पर ढेर हो गया. माना जा रहा था कि वेस्टइंडीज़ इस मुकाबले को आराम से जीत लेगा लेकिन न्यूज़ीलैंड ने शानदार गेंदबाज़ी और फील्डिंग करते हुए यह मुकाबला 4रनों से जीत लिया था. लेकिन सबसे रोमांचक पल तो मैच खत्म होने के बाद आया जब रेफरी बासिल बुचर ने न्यूज़ीलैंड के इस शानदार टीम प्रदर्शन को सराहते हुए पूरी टीम को ही मैन ऑफ़ द मैच का अवार्ड दिया था.

मालिक की इस गलती की वजह से गिरफ्तार हुआ तोता, मिली ऐसी भयंकर सजा

वहीं 1999 के एक टेस्ट मैच के दौरान भी यह घटना दोहराई गई थी. दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज़ के बीच खेले गए इस टेस्ट मैच में मैच रेफरी ने द.अफ्रीका के सभी 11 खिलाड़ियों को मैन ऑफ द मैच खिताब दिया था. इस मैच का अगर विश्लेषण किया जाए तो द. अफ्रीका के 11 में से 6 खिलाड़ी ऐसे थे जो बढ़िया प्रदर्शन से इस खिताब को डिजर्व करते थे, वहीं बाकि 4 खिलाड़ी ऐसे थे जिन्होंने मैच में अपनी टीम के लिए ठीक-ठाक योगदान दिया था.
Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *