कोरोना से जुड़ी ये ताजा रिपोर्ट, यूपी वालों के लिए बनी खतरे की घंटी…

उत्तर प्रदेश में कोरोना के 190 नए केस सामने आए हैं। इनमें सबसे अधिक 16 लखनऊ, 15 गाजियाबाद और 13 मरीज आजमगढ़  में मिले हैं। राज्य में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 7,176 पर पहुंच गई है। इनमें से 4,215 मरीज इलाज के बाद स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं। कुल 2,758 कोरोना संक्रमित मरीजों का अभी विभिन्न चिकित्सालयों में इलाज चल रहा है। पिछले 24 घंटे के अंदर राज्य में कोरोना से 15 लोगों की मौत हुई। अब कोरोना संक्रमण से मरने वालों की तादाद 197 हो गई है। 

Loading...

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी कोरोना बुलेटिन के मुताबिक गुरुवार को आगरा में पांच, मेरठ में एक, गौतमबुद्ध नगर में सात, लखनऊ में 10, कानपुर नगर दो, गाजियाबाद में 15, सहारनपुर में छह, फिरोजाबाद में छह, मुरादाबाद में एक, वाराणसी में एक, जौनपुर में एक, बस्ती में सात, अलीगढ़ में एक, बुलंदशहर में तीन, गाजीपुर में चार, सिद्धार्थनगर में दो, अयोध्या में एक, अमेठी में एक, प्रयागराज में तीन, बिजनौर में दो, संभल में छह, बहराइच में दो, संतकबीर नगर में नौ, मथुरा में तीन, प्रतापगढ़ में दो, रायबरेली में तीन, देवरिया में तीन, गोरखपुर में नौ, आजमगढ़ में 13, लखीमपुर खीरी में दो, गोंडा में पांच, इटावा में दो, फतेहपुर में दो, हरदोई में दो, बदायूं में दो, बलरामपुर में एक, भदोही में सात, झांसी में पांच, बलिया में चार, चित्रकूट में चार, मैनपुरी में छह, उन्नाव में एक, औरैय्या में दो, फर्रुखाबाद में एक, मऊ में तीन, कानपुर देहात में चार, महोबा में एक तथा सोनभद्र में एक नया केस सामने आया है। 

तेजी से ठीक हो रहे मरीज
प्रमुख सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया है कि प्रदेश में 11 मई से ही कोरोना के एक्टिव मामले कम हो रहे हैं। ठीक होने वाले मरीजों की संख्या अधिक होने का क्रम बना हुआ है। कुल संक्रमित मरीजों में से इलाज के बाद 4215 मरीज पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं। ठीक होने वाले मरीजों की संख्या कोरोना के एक्टिव मरीजों की तुलना में काफी अधिक हो गई है। गुरुवार को ही 224 कोरोना संक्रमित पूरी तरह स्वस्थ हुए जिन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया।

क्वारंटीन में 8454 लोग
प्रमुख सचिव ने बताया है कि आइसोलेशन में 2048 लोगों को और क्वारंटीन में 8454 लोगों को रखा गया है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण के सर्विलांस में 94,856 टीमें लगी रहीं। इन टीमों ने 12,625 इलाकों में 74,47,339 घरों का सर्वेक्षण किया। साथ ही 3,74,46,942 लोगों की जांच भी की। प्रदेश में बड़ी संख्या में कामगार व श्रमिकों की वापसी हुई है। सभी को होम क्वारंटीन में 21 दिनों तक रहने के लिए कहा गया है। होम क्वारंटीन में रहने वालों की जांच के लिए आशा वर्करों को भी तैनात किया गया है। आशा वर्करों द्वारा अबतक 10 लाख 08 हजार 531 लोगों की जांच गई है। जांच के दौरान 959 लोगों के अंदर कोरोना के लक्षण मिले। जिनका उपचार किया जा रहा है। इन 959 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजा गया। 88 लोग कोरोना से संक्रमित मिले। 

क्वारंटीन सेंटरों में रखे लोगों की जांच के लिए पल्स ऑक्सीमीटर
प्रमुख सचिव ने बताया कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर बड़ी तादाद में पल्स आक्सीमीटर मंगाए गए हैं। यह सभी जिलों को भेजे जा रहे हैं। क्वारंटीन सेंटरों में रखे गए लोगों के आक्सीजन व पल्स लेवल की जांच इससे की जा सकेगी। चिकित्सालयों में अब अन्य जटिल रोगों के इलाज की व्यवस्थाएं भी की जा रही हैं। 

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *