कोरोना के चलते कारोबारियों को स्पेशल लोन देगा SBI, जरुर पढ़े ये खास खबर…

देश में कोरोना वायरस तेजी से फैलने की वजह से कारोबार चौपट हो गया है. छोटी-बड़ी सभी कंपनियां इस वायरस की वजह से प्रभावित हुई हैं. इस बीच देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक नये प्लान के साथ प्रभावित कारोबार को मदद के लिए सामने आया है.

Loading...

दरअसल, भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने कोरोना वायरस के असर से प्रभावित कारोबारियों को अतिरिक्त फंडिंग देने के लिए एक प्लान तैयार किया है. जिसका नाम कोविड-19 इमरजेंसी क्रेडिट लाइन (CECL) दिया गया है और यह योजना आगामी 30 जून तक लागू रहेगी.

इस योजना के तहत कैपिटल लिमिट के 10 फीसदी तक फंड लोन में मिलेगा, लोन की अधिकतम राशि 200 करोड़ रुपये निर्धारित की गई है. CECL के तहत कर्ज की ब्याज दर 7.25 फीसदी होगी और इसके लिए कोई प्रॉसेसिंग शुल्क या प्रीपेमेंट पेनॉल्टी नहीं ली जाएगी. 

बता दें, कोरोना के बढ़ते प्रभाव के बीच कारोबारियों को राहत देने के लिए सबसे पहले SBI ने हाथ बढ़ाया है. अब उम्मीद की जा रही है कि बाकी के दूसरे बैंक भी जल्द रियायत प्लान के साथ सामने आएंगे.

कोरोना संकट के बीच घर से ही निपटा सकते हैं PF से जुड़े ये काम

SBI की इस योजना से छोटे कारोबारियों को बड़ी मदद मिलेगी, वो अपना कारोबार कम ब्याज दर पर लोन लेकर फिर से चालू कर पाएंगे और फिर उन लोन को बिना किसी पेेनाल्टी के चुका पाएंगे.

12 महीने के लिए मिलेगा

SBI ने अपनी शाखाओं में सर्कुलर में कहा है कि कोविड-19 की वजह से अस्थाई तौर पर पूंजी में आई कमी पूरी करने के लिए सीईसीएल एक डिमांड लोन के रूप में होगा, जिसकी अवधि 12 महीने की होगी. यानी लोन को निकासी के 13 महीने के अंदर चुकाना होगा. 

इस योजना का लाभ तमाम स्टैंडर्ड खाता रखने वाले कारोबारियों को मिलेगा, जिसका 30 दिनों या मार्च 16 तक कोई ओवरड्यूज नहीं है. जिन कर्जदारों ने छोटे कारोबार के लिए विशेषीकृत लोन उत्पादों का फायदा लिया है, वे भी इसका लाभ ले पाएंगे.

loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *