कारपेट एक्सपो मार्ट के माध्यम से दुनिया भर के कालीन बाजार को भदोही लेकर आएंगे : CM योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साल के आखिरी दिन भदोही पहुंचकर कारपेट एक्सपो मार्ट समेत 197.21 करोड़ की 15 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इस दौरान उन्होंने करीब आधा घंटा जनसभा को संबोधित किया, जहां विपक्षी दल उनके निशाने पर रहे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बृहस्पतिवार को कहा कि कारपेट एक्सपो मार्ट के माध्यम से दुनिया भर के कालीन बाजार को भदोही लेकर आएंगे। कालीन बुनकरों के हुनर का अभिनंदन करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उद्द्यमियों और हस्तशिल्पियों के बूते भदोही देशभर के कालीन निर्यात की 80 फीसदी हिस्सेदारी रखता है। यह अपने आप में बड़ी उपलब्धि है। इससे भदोही का नाम पूरी दुनिया में गर्व से ऊंचा हुआ है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2014 तक किसानों को सम्मान निधि क्यों नहीं मिली। आयुष्मान योजना, ओडीओपी (एक जिला-एक उत्पाद ), स्वरोजगार योजना, महिला सुरक्षा आदि के लिए कार्य क्यों नहीं हुए। फिर खुद ही जवाब देते हुए कहा कि क्योंकि पिछली सरकारों के एजेंडे में किसान, मजदूर, महिलाएं, युवा नहीं थे, बल्कि जातिवाद, क्षेत्रवाद, परिवारवाद के एजेंडे पर काम हो रहा था।

सीएम ने कहा कि एक जिला-एक उत्पाद योजना के तहत स्थानीय स्तर की विशिष्ट पहचान को और मजबूत बनाने का प्रयास किया जा रहा है। इस क्रम में उन्होंने बनारस की साड़ी, मुरादाबाद का पीतल, मिर्जापुर के पत्थर, सिद्धार्थनगर के काला नमक चावल और अन्य जिलों के उत्पादों का जिक्र किया। कालीन उद्द्योग को हर तरह की मदद देने के लिए सरकार हमेशा तैयार है।

उद्योग मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने भी सभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की वोकल फॉर लोकल की कल्पना को साकार रूप देने के लिए अर्थव्यवस्था को 1.5 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंचाने के प्रयास में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विजन का नतीजा है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को चेक, टूल किट आदि देकर प्रोत्साहित किया। सांसद रमेश चंद्र बिंद ने स्वागत और भदोही विधायक रवींद्रनाथ त्रिपाठी ने धन्यवाद ज्ञापन दिया। कार्यक्रम का संचालन अर्चना सतीश ने किया।

पूर्व सपा विधायक जाहिद बेग का कहना है कि कारपेट एक्सपो मार्ट का लोकार्पण 20 दिसंबर 2016 को तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव कर चुके हैं। अब इसके लोकार्पण का कोई औचित्य नहीं है। यदि बृहस्पतिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लोकार्पण करना अनैतिक और असंवैधानिक है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button