कांग्रेस, सपा और बसपा नाम की बीमारी को यूपी से बीमारी दूर करने की जरूरत है: शाह

नई दिल्ली/वाराणसी/आजमगढ़. अमित शाह बुधवार को आजमगढ़ पहुंचे. उन्होंने कांग्रेस, सपा और बसपा को “कसाब’ नाम की बीमारी बताया और यूपी को बीमारी दूर करने की जरूरत है। इससे पहले उन्होंने वारणसी में कहा चुनाव के बाद किसी पार्टी के साथ हाथ मिलाने का दूर-दूर तक सवाल नहीं उठता। उन्होंने विश्वास जताया कि 11 मार्च को यूपी में पूर्ण बहुमत के साथ बीजेपी की सरकार बनेगी। शाह ने कहा कि यूपी में पार्टी के सीएम कैंडिडेट के चेहरे का एलान ना करना, पार्टी की चुनावी रणनीति का हिस्सा है। और क्या बोले शाह…कांग्रेस, सपा और बसपा नाम की बीमारी को यूपी से बीमारी दूर करने की जरूरत है: शाह
 

1# एक नेता से मां परेशान, एक से पिता, यूपी दोनों से परेशान
– मुलायम सिंह के संसदीय क्षेत्र में बीजेपी कैंडिडेट कन्हैया लाल निषाद के सपोर्ट में रैली करने पहुंचे शाह ने कहा, “एक नेता से उनकी मां परेशान है, दूसरे नेता से उनके पिता परेशान हैं और यूपी की जनता इन दोनों से परेशान है।”
 
2# चाचा-भतीजा ने यूपी को लूटा
– शाह बोले, “सपा, बसपा, कांग्रेस नहीं, यूपी का विकास सिर्फ बीजेपी कर सकती है। नरेंद्र मोदी के पीएम बनने के बाद हर साल यूपी को एक लाख करोड़ दिया गया। ढाई साल में केंद्र यूपी को केंद्र ने ढाई लाख करोड़ दिया, लेकिन सब चाचा-भतीजा लूट कर ले गए।”
– सपा के शासन में प्रदेश रेप में नंबर वन बन गया। हत्याएं और लूट की घटनाएं हो रही हैं।
 
3# धर्म पूछकर लैपटॉप बांटा जाता है
– राहुल बाबा बोलते हैं कि मोदी ने क्या विकास किया। हम पूछते हैं कि 60 साल तक देश में कांग्रेस का शासन रहा, देश का कितना विकास हुआ।
– पीएम मोदी ने दो साल में दो करोड़ महिलाओं को चूल्हा दिया। यूपी की सरकार धर्म पूछकर लैपटॉप बांटती है। इसीलिए सभी बच्चों को लैपटॉप नहीं मिला।
 
4# किसी से हाथ मिलाने का सवाल ही नहीं
– न्यूज एजेंसी पीटीआई को वाराणसी में दिए एक इंटरव्यू में शाह ने कहा कि किसी से भी हाथ मिलाने का दूर-दूर तक सवाल ही नहीं उठता है।
– उन्होंने पूरा भरोसा जताया कि बीजेपी यूपी, उत्तराखंड और गोवा में पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएगी। हालांकि, उन्होंने पंजाब के बारे में ऐसा कोई दवा नहीं किया।
– शाह बोले, “पंजाब में त्रिकोणीय मुकाबला है इसलिए इस बारे में अनुमान लगाना बेहद मुश्किल है कि कौन सी पार्टी जीतेगी।”
 
5# MLA और पार्लियामेंट्री बोर्ड तय करेगा सीएम
– शाह ने कहा कि यूपी में सीएम के चेहरे का एलान ना करना पार्टी की चुनावी रणनीति का हिस्सा है।
– इस सवाल के जवाब में कि पार्टी के जीतने पर सीएम कौन होगा?, शाह ने कहा- सीएम के चेहरे का फैसला जीतने वाले एमएलए और बीजेपी का पार्लियामेंट्री बोर्ड करेगा।
 
6# यूपी सरकार ने श्मशानों पर आधा ही खर्च किया
– कांग्रेस ने आरोप लगाया कि श्मशान और कब्रिस्तानों का स्पीच में जिक्र करके पीएम मोदी कैंपेन को सांप्रदायिक रंग दे रहे हैं। इस आरोप को शाह ने पूरी तरह नकार दिया।
– शाह बोले, “आलोचना करने वाले और मीडिया, दोनों आंकड़े देख लें। यूपी में कब्रिस्तानों पर 1200 करोड़ रुपए खर्च किए गए, जबकि श्मशानों पर इसकी आधी रकम ही खर्च की गई। हिंदुओं और मुस्लिमों का जनसंख्या का अनुपात 80:20 है।”
 
7# हम समस्या उठाते हैं तो कम्युनल कहा जाता है
– अमित शाह ने कहा, “जब हम समस्याएं उठाते हैं तो विपक्षी हमें कम्युनल कहने लगते हैं।’
– “वो (एसपी) तुष्टिकरण की राजनीति के जुटे हुए हैं, वो लोग कम्युनल हैं। उनकी पॉलिसीज में कम्युनल एटीट्यूड है। ऐसी समस्याएं गुजरात में क्यों नहीं उठती हैं?”
 
8# पहले 3 फेज में बीजेपी को मिलेंगी 130 से ज्यादा सीटें
– शाह ने कहा, “11 मार्च को 1 बजे यूपी में बीजेपी की सरकार बनेगी। पहले तीन फेज की 209 सीटों में से बीजेपी को 130 से ज्यादा सीटें मिलेंगी।”
– “पहले दो फेज में हमें बीएसपी से चुनौती मिली और तीसरे में हमारा मुकाबला एसपी से था। ये दोनों ही पार्टियां कुछ विधानसभाओं में चुनौती दे सकती हैं, लेकिन बीजेपी का दबदबा सभी सीटों पर है।”
– “नोटबंदी केंद्र सरकार का फैसला है, ना कि यूपी सरकार का फैसला। अगर मीडिया और अपोजिशन यूपी के परिणामों को नोटबंदी का नतीजा बताता है, तो बीजेपी को कोई परेशानी नहीं है, हम इसका स्वागत करते हैं।”
 
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button