‘ऑपरेशन बीफ’ का बड़ा असर, छापेमारी के बाद डासना में बूचड़खाने को सील किया गया

आजतक के ऑपरेशन बीफ का बड़ा असर हुआ है. गाजियाबाद जिले के डासना में स्थित अल नसीर बूचड़खाने में चल रहे अवैध तरीके से पशुओं के वध पर आजतक के स्टिंग के बाद पुलिस की नींद टूटी. अब तक सो रहे गाजियाबाद प्रशासन को आजतक के स्टिंग ने ऐसा जगाया कि खुद एडीएम सदर तमाम दल बल के साथ पहुंचे और बूचड़खाने पर शिकंजा कसने को मजबूर हो गए. 

'ऑपरेशन बीफ' का बड़ा असर,

अल नसीर बूचड़खाने पर स्टिंग ऑपरेशन के बाद ऐसे बूचड़खानों पर कड़ी कार्रवाई के लिए स्पेशल टीम बनाई जा रही है. साथ ही आजतक से स्टिंग ऑपरेशन की सीडी भी मांगी गई है ताकि इस मामले में कड़ी कार्रवाई की जाए.छापेमारी के बाद बूचड़खाने को सील कर दिया गया है.

CM योगी के सचिवालय का गेट गिरने से बच्ची की मौत

ऑपरेशन बीफ के तहत आजतक के अंडर कवर रिपोर्टर आधी रात के बाद अल नसीर बूचड़खाने के परिसर में पहुंचे तो इनके छुपे कैमरों ने ऐसे भयानक दृश्य कैद किए जिन्हें देखकर कोई भी विचलित हो सकता है. यहां जमीन पर सैकड़ों भैंसें और उनके बछड़े खून से लथपथ फर्श पर बिछे थे. उनके गले तलवारों से कटे हुए थे.

आजतक की इंवेस्टिगेशन टीम ने अल नसीर एक्सपोर्ट्स के बूचड़खाने में तमाम नियमों की धज्जियां उड़ने को रिकॉर्ड किया. ये कंपनी अपनी वेबसाइट पर खुद को फ्रोजन हलाल, भैंस मीट के लिए ‘ग्लोबल लीडर’ बताती है.

कंपनी की ओर से पशु वध संबंधी अंतरराष्ट्रीय मानकों के पालन और क्वालिटी कंट्रोल को लेकर भी लंबे चौड़े दावे किए गए हैं. लेकिन इंडिया टुडे की जांच में बूचड़खाने में कई नियमों का उल्लंघन होते पाया गया.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 − six =

Back to top button