गठबंधन के बावजूद सपा और कांग्रेस के प्रत्याशी आमने-सामने

उत्तर प्रदेश में सपा और कांग्रेस का गठबंधन कई जगहों पर मुश्किल में घिरता नजर आ रहा है. कांग्रेस का गढ़ कहे जाने वाले अमेठी और रायबरेली जिलों में कई सीटों पर दोनों दलों के प्रत्याशियों ने सीटों के बंटवारे को मानने से इंकार कर दिया है. समाचार एजेंसी पीटीआई मुताबिक इन उम्मीदवारों में कांग्रेस की प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष संजय सिंह की पत्नी अमिता सिंह का भी नाम शामिल हो गया है.त्तर प्रदेश में गठबंधन के बावजूद कई सीटों पर सपा और कांग्रेस के प्रत्याशी आमने-सामनेगुरुवार को पूर्व तकनीकी शिक्षा मंत्री अमिता सिंह ने कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में अमेठी सीट से नामांकन कराया है. सीटों के बंटवारे के तहत यह सीट सपा को मिली है. सपा ने यहां से मौजूदा विधायक गायत्री प्रजापति को टिकट दिया है. अमेठी जिले की ही गौरीगंज सीट पर भी विवाद है. यहां पर सपा के मौजूदा विधायक और कांग्रेस के प्रत्याशी मोहम्मद नईम आमने-सामने हैं, जिन्होंने बुधवार को नामांकन कराया है. इसी तरह रायबरेली की सरेनी सीट पर कांग्रेस के अशोक सिंह और सपा के मनोज कुमार सिंह एक-दूसरे के खिलाफ खड़े हैं. रिपोर्ट के मुताबिक दोनों दलों के बीच लगभग एक दर्जन से ज्यादा सीटों पर विवाद है.

हालांकि, कांग्रेस महासचिव गुलाम नबी आजाद ने इस स्थिति के लिए गठबंधन होने के बारे में शुरुआती अनिश्चितता को जिम्मेदार ठहराया है. उनका कहना है कि गठबंधन में देरी के चलते कुछ जगहों पर सपा उम्मीदवारों ने पहले ही पर्चे भर दिए थे और अनिश्चितता की वजह से वापस नहीं ले पाए थे. उधर, सपा के प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कुछ सीटों पर विवाद की बात मानी है. उन्होंने कहा है कि इस समस्या को जल्द सुलझा लिया जाएगा….

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button