इस मुख्यमंत्री को पता था, 500 और 1000 के नोट होने वाले है बंद

जगन के नाम से लोकप्रिय वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष वाई.एस. जगनमोहन रेड्डी ने बुधवार को आरोप लगाया कि आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू को केंद्र सरकार के नोटबंदी के कदम के बारे में पहले से ही जानकारी थी। आंध्र प्रदेश के राजामहेंद्रवरम में संवाददाताओं से बात करते हुए उन्होंने कहा कि नायडू समेत कुछ खास लोगों को 1000 और 500 रुपये के नोट बंद करने के फैसले के बारे में जानकारी दे दी गई थी। नायडू की तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) केंद्र में सत्तारूढ़ गठबंधन सरकार में शामिल है।

जगनमोहन रेड्डी

आंध्र प्रदेश में विपक्ष के नेता जगन ने कहा कि चंद्रबाबू नायडू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नोटबंदी की घोषणा से तीन दिन पहले अपनी डेयरी कंपनी ‘हेरिटेज फूड्स’ बेच दी थी। उन्होंने कहा कि बड़े नोट बंद करने की मांग करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 22 अक्टूबर को लिखा नायडू का पत्र भी यह साबित करता है कि उन्हें पहले से ही इसकी जानकारी थी।

जगन का दावा है कि पहले से ही नोटबंदी की सूचना मिलने के कारण तेदेपा अध्यक्ष के पास जरूरी समायोजन के लिए एक महीने का समय था। जगन ने कहा कि सरकार को इतना महत्वपूर्ण फैसला लेने से पहले विपक्ष और विभिन्न वर्गो के लोगों की राय जाननी चाहिए थी। उन्होंने कहा कि नोटबंदी हालांकि काले धन पर लगाम लगाने का सही फैसला है, लेकिन इसे सही प्रकार से लागू न किए जाने के कारण लोगों को कड़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

पुरीदुनिया.कॉम से साभार

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button