इस जगह की खूबसूरत झीलों, झरनों और चोटियों में बसता है इश्‍क, आप भी एक बार जरुर जाये…

सोचिए जरा आप अपने पार्टनर के साथ किसी ऐसी जगह पर हैं, जहां झील बिल्‍कुल शांत हो और हल्‍की-हल्‍की हवाएं चल रही हों। होगा ना कितना आशिकाना मौसम, कुछ ऐसा ही है तवांग। यहां आकर यूं लगेगा जैसे किसी बादलों के शहर में आ गए हों। शायद यही वजह है कि यह जगह लवर्स और नेचर लवर्स के लिए पहली प्रॉयरिटी है। लोग तो इस जगह को ‘छिपा हुआ स्‍वर्ग’ भी कहते हैं। अरुणाचल प्रदेश का यह शहर तवांग बेहद खूबसूरत है। यहां आपको छोटे-छोटे गांव, ऊंची- ऊंची चोटियां और उनपर मंडराते बादल का खूबसूरत नजारा देखने को मिलेगा। तो आइए इस जगह के आसपास बसने वाली शानदार जगहों से आपको रूबरू करवाते हैं।इस जगह की खूबसूरत झीलों, झरनों और चोटियों में बसता है इश्‍क, आप भी एक बार जरुर जाये...

Sela Pass

सेला पास तवांग का पहाड़ी दर्रा है। इसकी खूबसूरती देखते ही बनती है। यह साल भर बर्फ से ढंका रहता है। इसी के पास दर्रे के पास सेला झील है, जो कि 101 पवित्र बौद्ध झीलों में से एक मानी जाती है। बता दें कि इस दर्रे के आस-पास ही यह सारी झीलें बसी हैं। जिससे आसपास हल्‍की-हल्‍की हवाएं बहती हैं। जो पर्यटकों को यहां से प्‍यार करने पर मजबूर कर देती है।

Nuranang falls

अगर झरनों से प्‍यार है तो नूरानांग फाल्‍स जरूर जाएं। यह बहुत ही शानदार जगह है। यहां पहाड़ी से गिरता झरना प्रकृति के एक अलग ही सौंदर्य को दर्शाता है। यहीं झरने के बेस में इड्रोइलेक्ट्रिक प्‍लांट लगा है, जिससे आसपास के क्षेत्र में बिजली की सप्‍लाई की जाती है।

Sangestar lake

तवांग की संगेस्‍तर झील लवर्स की फर्स्‍ट चॉइस कही जाती है। यहां झील के आसपास बैठकर लोगों को चाय का आनंद लेते हुए देखा जा सकता है। संगेस्‍तर झील का कांच जैसा पारदर्शी पानी और आसमान पर छाए बादल इस जगह से इश्‍क करने पर मजबूर कर देता है। यहां अक्‍सर ही फिल्‍मों की शूटिंग की जाती है। बता दें कि फिल्‍म ‘कोयला’ में माधुरी के एक गाने शूटिंग भी यहीं हुई थी।

Tawang Monastery

तवांग नदी के किनारे बसा यह मठ बौद्धों का प्रसिद्ध मठ है। 300 साल पहले बने इस मठ को बौद्ध भिक्षु अंतरराष्‍ट्रीय धरोहर मानते हैं। इस मठ से पूरी तवांग घाटी का खूबसूरत नजारा देखने को मिलता है। बता दें कि दूर से यह मठ दुर्ग जैसा लगता है। इसके प्रवेश द्वार का नाम ‘काकालिंग’ है जो देखने में झोपडी जैसा लगता है और इसकी दो दीवारों के निर्माण में पत्थरों का प्रयोग किया गया है। इन दीवारों पर की गई खूबसूरती चित्रकारी लोगों को खासा अट्रैक्‍ट करती है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button