आर्मी ने जारी किए दस्तावेज, पकड़ा गया ममता बनर्जी का झूठ

पश्चिम बंगाल में सेना की मौजूदगी को लेकर ममता बनर्जी ने आपत्ति दर्ज कर भले ही इसे एक राजनितिक साजिश करार दिया है, लेकिन अब आर्मी ने दस्तावेज जारी कर ममता बनर्जी के दावे को झुठला दिया है।_mamta_banerj

आर्मी ने शुक्रवार को यह साबित किया कि सैन्य अभ्यास के बारे में तृणमूल कांग्रेस द्वारा लगाए गए आरोप गलत हैं। आर्मी ने 4 ऐसे पत्र जारी किए हैं जिनसे यह साबित होता है कि इस अभ्यास के बारे में पश्चिम बंगाल सरकार के विभिन्न प्राधिकरणों को सूचना दी गयी थी और उनसे सहयोग का आग्रह किया गया था। सेना के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओब्रायन ने सरकार को चुनौती देते हुए कहा कि जो भी दस्तावेज आर्मी द्वारा दिखाए जा रहे हैं, क्या उन्हें पश्चिम बंगाल सरकार ने मंजूरी दी?

टीएमसी ने आरोप लगाया था कि अपनी इस सैन्य अभ्यास के बारे में सेना ने पश्चिम बंगाल सरकार और स्थानीय पुलिस को कोई सूचना नहीं दी थी। जिसके जवाब में सेना ने 4 दस्तावेजों को जारी किया है। जिसमें साफ तौर पर यह दिखाई दे रहा है कि संबंधित प्राधिकरणों को इस बारे में जानकारी थी।

 

इन पत्रों में ऑफिस ऑफ कमिश्नर ऑफ पुलिस, एचआरबीसी जिसके अंडर में विद्या सागर सेतु टोल प्लाजा आता है, हावड़ा के पुलिस कमिश्नर और ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट के प्रिंसिपल सेक्रेटरी को भेजा गया पत्र शामिल है। ये सारे सबूत इस बात की तस्दीक करते हैं कि सेना ने अचानक कोई कदम नहीं उठाया बल्कि राज्य प्रशासन और स्थानीय पुलिस को इस बारे में पहले ही जानकारी दे दी गयी थी।

इससे पहले, जीओसी बंगाल एरिया (ऑफिशियेटिंग), मेजर जनरल सुनील यादव ने मुख्यमंत्री के आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘हम सभी आरोपों से इनकार करते हैं। यह अभ्यास स्थानीय पुलिस अधिकारियों के साथ तालमेल से किया जा रहा है। पहले 27 और 28 नवंबर को अभ्यास की योजना थी। 28 नवंबर को भारत बंद के आह्वान पर कोलकाता पुलिस के विशेष आग्रह पर तारीखें 30 नवंबर से 2 दिसंबर बदली गईं।”

गुरूवार को टोल प्लाजा पर सैन्यकर्मियों की तैनाती को लेकर ममता बनर्जी ने राज्य सचिवालय में देर रात संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘मेरा इरादा राजनीतिक, असंवैधानिक, बदले की भावना, अनैतिक, अलोकतांत्रिक है। मैंने निर्णय किया है कि जब तक सेना को इस सचिवालय के सामने से नहीं हटाया जाता है, मैं यहां से नहीं जाऊंगी। मैं यहीं ठहरूंगी। क्या इस देश में सेना द्वारा तख्तापलट किया जा रहा है ?’

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button