अमेरिकी अखबार का खुलासा, भारत से दो करोड़ मुस्लिमों को भगाने की तैयारी

अमेरिका के नए राष्‍ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने चुनावी अभियान के दौरान ऐलान किया था कि वह अमेरिका से मुस्लिमों को निकाल बाहर करेंगे। लेकिन भाजपा सरकार ने यह कदम उठा लिया है। करीब दो करोड़ मुस्लिम भारत से भगाए जाएंगे। एक अमेरिकी अखबार ने यह खुलासा किया है।

पीएम मोदी ने पूरा किया वादा, आज शाम तक चेक करें खाता, अकाउंट में आएंगे 5 लाख रुपए

अमेरिकी अखबार का खुलासा

बीते तीन दशक में ये मुस्लिम बांग्लादेश के जरिए भारत के असम राज्य में पहुंचे हैं। अब असम की भाजपा सरकार ने इनके खिलाफ एक्शन लेने की तैयारी कर ली है।

अमेरिकी अखबार का दावा

अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट के मुताबिक, असम सरकार इन बांग्लादेशी मुस्लिमों को बॉर्डर से बाहर करेगी। इन मुस्लिमों के पास भारत की पहचान से जुड़े कोई साक्ष्‍य नहीं हैं। सन 1971 में पाकिस्तान से बांग्लादेश के अलग होने के बाद से बांग्लादेशी मुस्लिमों का भारत में आना बदस्तूर जारी है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने किया हिन्दूओं के साथ विश्वासघात; बने मुस्लिमों भक्त

असम के वित्त मंत्री हिमांता बिश्‍व सर्मा ने बताया कि असम में हिन्दुओं की संख्‍या घटती जा रही है। मुस्लिम आबादी बढ़ रही है। यह मुस्लिम आबादी भारत नहीं, बल्कि बांग्लादेश की है। इसे लौटना होगा। इससे हमारी संस्कृति पर बुरा असर पड़ रहा है। उन्होंने यह भी तर्क दिया कि आतंकी संगठन आईएसआईएस बांग्लादेश के मुस्लिमों को ट्रेंड कर रहा है। ऐसे में वहां के लोगों को भारत आने से रोकना होगा।

बड़ी खबर: ट्रंप और ओबामा को हराकर पीएम मोदी बनें पर्सन ऑफ द ईयर

बता दें कि असम की बड़ी सीमा बांग्लादेश को छूती है। यहां ज्यादा सतर्कता न होने के कारण तमाम बांग्लादेशी मुस्लिम परिवार भारत में घुस चुके हैं। यह सब कुछ करीब तीन दशक से जारी है। इस वजह से असम की आबादी में हैरतअंग्रेज बढ़त देखी जा रही है। इससे यहां की अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ रहा है। लेकिन अब असम के सीएम सर्बानंद सोनोवाल की भाजपा शासित सरकार इन मुस्लिमों पर लगाम कसने की तैयारी कर चुकी है।

बुरी खबर: जयललिता को लेकर आयी सबसे बड़ी खबर

बता दें कि भारत और बांग्लादेश के बीच लोगों को उनके देश वापस भेजने से जुड़ा कोई समझौता नहीं हुआ है। नवंबर की शुरुआत में पहली बार बांग्लादेश ने भारतीय पहचानपत्र के अभाव में 10 लोगों को अपना नागरिक मानते हुए स्वदेश बुला लिया था।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button