अब गाय और भैंसें भी बिक रही हैं ऑनलाइन

ols-cowनई दिल्ली (15 सितंबर): ओएलएक्स और क्विकर जैसे ऑनलाइन क्लासीफाइड्स मार्केटप्लेस और इनके विज्ञापनों के बारे में सोंचते ही आपके दिमाग में क्या आता है? ऐसे विज्ञापन आपको अपनी मोटरसाइकिल, कार, फर्नीचर आदि को आसानी से बेचने के माध्यम के तौर पर एक छवि बनाते हैं। इसके साथ ही इनके बारे में जानकारी देते हैं। आप अपनी जिन चीजों को बेचना चाहते हैं उनके लिए खरीददार भी उपलब्ध कराते हैं।

पिछले सालों में इन वेबसाइट्स ने काफी तरक्की की है। ये हर तरह की चीजों को बेचने लगी हैं। इन चीजों की सबसे असाधारण कैटेगरीस में से एक सबसे नई है- चौपाए जानवर। जी हां, आपको जानकर हैरानी होगी कि चौपाए जानवरों के बेचने के लिए प्रमोशन का ये वेबसाइट्स एक माध्यम बन रही हैं। ओएलएक्स पर देशभर में लोग गायें खरीद और बेच रहे हैं।

कुछ क्लासीफाइड्स साइट्स ने जानवरों के लिए एक अलग से कैटेगरी बनाई है। हालांकि, इनमें सबसे ज्यादा संख्या में पालतू जानवर ही बेचे जा रहे हैं। जिनमें कुत्ते, बिल्ली, तोते आदि शामिल हैं।

अंग्रेजी अखबार ‘न्यू इंडियन एक्सप्रेस’ की रिपोर्ट के मुताबिक, ग्रामीण अर्थव्यवस्था भी डिजिटलीकरण को अपनाकर इसका लाभ उठा पा रही है। जो कि शहरी डोमेन से बिल्कुल अलग अपने ढ़ंग से विकसित हो रही है। इस तरह के विज्ञापनों की संख्या के बढ़ने का एक कारण यह भी है कि इस प्रक्रिया में ब्रोकर की भूमिका समाप्त की गई है।

दूसरा कारण है लॉजिस्टिकल कॉस्ट में कमी है। क्योंकि खरीददार को ट्रांसपोर्टेशन का खर्चा नहीं करना पड़ता ना ही बाजार में जाना पड़ता है। जिसकी वजह से ऑनलाइन स्पेस चौपायों को बेचने और खरीदने के लिए एक आदर्श माध्यम बन रहा है।

 
 
 
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button