अपनी बेमिसाल खूबसूरती के लिए मशहूर हैं भारत की ये झीलें…

दिन हो रात, सर्दी हो या गर्मी, कुछ जगहों की खूबसूरती इन सबपर निर्भर नहीं होती। झीलें ऐसी ही होती हैं जिसका नज़ारा अच्छा या खराब नहीं होता बल्कि हर पल अपना रंग बदलता रहता है। लेह लद्दाख का पैंगॉग हो या कश्मीर का डल लेक। इसकी ऐसी ही बेमिसाल खूबसूरती को देखने दुनियाभर से लोग आते हैं। तो जानते हैं और कौन सी झीलें हैं इसमें शामिल और कब बनाएं वहां जाने का प्लान।अपनी बेमिसाल खूबसूरती के लिए मशहूर हैं भारत की ये झीलें...

1. डल लेक

कश्मीर की खूबसूरती में चार चांद लगाने का काम करता है डल लेक। उगते और ढलते सूरज की किरणें जब झील पर पड़ती हैं तब डल लेक की खूबसूरती चरम पर होती है। कई सारी फिल्मों जैसे‘जब-जब फूल खिले’, ‘जंगली’, ‘मिशन कश्मीर’, ‘कभी-कभी’, ‘रॉकस्टार’ में भी इसे देखा जा सकता है। झील के आसपास फैले मुगल गार्डन के नजारे को भी यहां आकर देख सकते हैं। डल लेक की सैर करवाने के लिए यहां हाज़िर हैं हाउस बोट्स। अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस हाउस बोट्स द्वारा आप झील के हर एक नजारे को आंखों और कैमरे में कैद कर सकते हैं। इस झील में बहुत सारी मछलियां पाई जाती हैं। यही वजह है कि मछली पालन यहां बड़ी इंडस्ट्री है। डल लेक के तीनों ओर बर्फ के ऊंचे-ऊंचे पहाड़ हैं।

कब आएं- मई से नवंबर के बीच।

2. पैंगोंग लेक

इंडिया की खूबसूरत जगहों की लिस्ट में शामिल पैगोंग लेक जैसा नज़ारा शायद ही कहीं और देखने को मिलता है। 600 स्क्वेयर किमी में फैले इस झील को इंडिया और चाइना शेयर करते हैं, साथ ही आसपास के और दूसरे देश भी। लेह आने वाले सैलानियों की संख्या ‘थ्री इडियट्स’ मूवी आने के बाद एकदम से बढ़ गई क्योंकि इसमें इस झील के किनारे ही रैंचो और पिया मिलते हैं। सर्दियों में यहां का पानी पूरी तरह जम जाता है। यहां कई तरह के वाटर बर्ड्स को देखा जा सकता है। साथ ही, यहां काफी संख्या में ब्राहमनी डक्स, काली गर्दन वाले सारस, सीगल्स आदि भी देखने को मिलते हैं।

कब आएं- जून से सितंबर के बीच।

3. चंद्रतल झील

चंद्रतल झील, लाहौल और स्पीती हिमालय रेंज के बीच बहुत ही खूबसूरत झील है। जो समुद्र से 4300 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। जिसे मून लेक के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि झील को पानी चंद्रा नदी से ही मिलता है। साथ ही, इसका आकार भी आधे चंद्रमा जैसा है। लद्दाख और तिब्बत से आए व्यापारियों ने इस झील की खोज की थी और कुल्लू, स्पीती के सफर पर बढ़ने से पहले कुछ देर के लिए यहां रुके थे। चंद्रतल झील को देखने का प्लान गर्मियों में ही बनाएं, क्योंकि बाकी समय इसका पानी ठंड से जम जाता है। वैसे तो हिमाचल की लगभग हर जगह घूमने के लिहाज से बहुत ही बेहतर है, लेकिन कुमजुम पास से 6 किमी की दूरी पर स्थित इस झील के क्रिस्टल क्लियर पानी को देखकर एक अलग ही शांति और सुकून का अहसास होता है।

कब आएं- जून से सितंबर के बीच।

4. सूरज तल लेक

सूरजतल लेक को लेक ऑफ द सन गॉड के नाम से भी जाना जाता है जो दुनिया की सबसे ऊंची झीलों में शामिल बरालाचा ला पास के काफी करीब है। खूबसूरत पहाड़ों और ग्लेशियर्स झील की खूबसूरती को दुगुना करते हैं। जिसे देखने देश-विदेश से सैलानी उमड़ते हैं। सूरज तल लेक भागा नदी का स्रोत है, जो जम्मू-कश्मीर में चंद्रा नदी में मिल जाती है। वहां इसे चेनाब नदी के नाम से जाना जाता है। वैसे, पूरे साल ये झील बर्फ से ढकी रहती है।

कब आएं- मई से अक्टूबर के बीच।

5. सोमोरी लेक

लद्दाख स्थित सोमोरी लेक देश की खूबसूरत झीलों में शामिल है। आसपास के ऊंचे पहाड़ इसकी खूबसूरती को करते हैं दुगुना। इसे माउंटेन लेक के नाम से भी जाना जाता है। इसके खारे पानी की वजह से उसका ये नाम सोमोररी पड़ गया, जहां कई प्रकार के माइग्रेटरी बर्ड्स की तादाद देखी जा सकती है। झील का पानी नीला और क्रिस्टल की तरह साफ है।

कब आएं- अप्रैल से अक्टूबर के बीच।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button