अगर दिखे ऐसे लक्षण तो हो जाएं तुरंत सावधान, नही तो हो सकता हैं बर्ड फ्लू

कोरोना वायरस ने पहले से ही दुनियाभर के लोगों को परेशान करके रखा हुआ है और अब भारत में फैल रही एक और बीमारी ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है। दरअसल, देश में बर्ड फ्लू के मामले बढ़ते जा रहे हैं। इसके मामले कई राज्यों में देखने को मिले हैं। राजस्थान, मध्य प्रदेश, झारखंड और हिमाचल प्रदेश में तो इसको लेकर अलर्ट जारी कर दिया गया है। यहां तक कि हिमाचल प्रदेश में मछली, मुर्गे व अंडों की बिक्री पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है। राजस्थान में तो बर्ड फ्लू की वजह से अब तक 500 से अधिक कौओं की मौत हो चुकी है। बाकी राज्यों का भी कुछ ऐसा ही हाल है। ऐसा नहीं है कि यह बीमारी सिर्फ पक्षियों तक ही सीमित रहती है, बल्कि यह इंसानों के लिए भी बहुत खतरनाक है।

इंसानों के लिए भी खतरनाक है यह बीमारी
बर्ड फ्लू एक ऐसी बीमारी है, जो सिर्फ पक्षियों को ही नहीं, बल्कि जानवरों और इंसानों के लिए भी उतना ही खतरनाक है। इस बीमारी से संक्रमित पक्षियों के संपर्क में आने वाले जानवर और इंसान आसानी से इससे संक्रमित हो जाते हैं। इससे मौत भी हो सकती है।

इंसान कैसे हो जाते हैं इससे संक्रमित?
बर्ड फ्लू को एवियन इंफ्लूएंजा के नाम से भी जाना जाता है। यह एक प्रकार का वायरल इंफेक्शन (संक्रमण) होता है। वैसे तो बर्ड फ्लू कई प्रकार हैं, लेकिन एच5एन1 (H5N1)पहला ऐसा बर्ड फ्लू वायरस था, जिसने पहली बार इंसान को संक्रमित किया था। इसका पहला मामला साल 1997 में हांगकांग में सामने आया था। यह बीमारी संक्रमित पक्षी के मल, नाक के स्राव, मुंह के लार या आंखों से निकलने वाले पानी के संपर्क में आने से इंसानों में होती है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link

बर्ड फ्लू का खतरा किसे अधिक?
मुर्गी पालन से जुड़े लोगों को बर्ड फ्लू का खतरा सबसे अधिक होता है। इसके अलावा संक्रमित पक्षियों के संपर्क में आने वाले लोगों, संक्रमित जगहों पर जाने वाले लोगों, कच्चा या अधपका चिकन या अंडा खाने वाले लोगों को भी इससे संक्रमित होने का खतरा रहता है।

बर्ड फ्लू के लक्षण
खांसी (आमतौर पर सूखी खांसी)
गले में खराश, बंद नाक या नाक बहना
थकान, सिरदर्द
ठंड लगना, तेज बुखार
जोड़ों में दर्द, मांसपेशियों में दर्द
नाक से खून बहना
सीने में दर्द
अगर आपको इस तरह के लक्षण दिखते हैं, तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।

बर्ड फ्लू से बचाव के उपाय
चिकन या अंडा खाने से बचें
समय-समय पर अपने हाथ साबुन-पानी से धोते रहें
पक्षियों से दूर रहें
ऐसी जगहों पर जाने से बचें, जहां बर्ड फ्लू का प्रकोप है
इंफ्लूएंजा का टीका लगवाने के लिए अपने डॉक्टर से सलाह लें

 

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button