आपको टीबी और कुपोषण से बचा सकते हैं ये फूड, फायदे जानकर नही होगा यकीन

- in हेल्थ
खान-पान और रहन-सहन का सही न होना कई गंभीर बीमारियों को जन्म देता है जैसे डेंगू , हार्टअटैक, जानलेवा कैंसर आदि. पर इन गंभीर बीमारियों से भी ज्यादा तेजी से लोगों में कुपोषण और टीबी फैल रहा है. इसका संबंध हमारे आहार में पौष्टिक चीजों की कमी होना है.
आपको टीबी और कुपोषण से बचा सकते हैं ये फूड, फायदे जानकर नही होगा यकीन भारत एक ऐसा देश है जहा कैंसर से भी ज्यादा तेजी से फैल रहा है टीबी और कुपोषण, जिसकी मुख्य वजह है खान-पान में प्रोटीन , विटामिन और आयरन की कमी. पिछले साल GBD जर्नल्स में छ्पे आंकड़ों पर डाटा डोमेस्टिक सर्वे ने भी इस बात का जिक्र किया था कि भारत में करीब 46 फीसदी लोग कुपोषण के शिकार हैं तो वहीं 39 फीसदी टीबी से ग्रसित हैं.

टीबी एक ऐसी बीमारी है जिसे अगर इसके शुरुआती स्टेज में ही न रोका गया तो जानलेवा साबित हो सकता है. ऐसे में जरूरत होती है भरपूर पौष्टिक खाने कि जिससे कि इम्यून पावर बढ़े और रोगों से लड़ने की क्षमता का विकास हो. वहीं दूसरी ओर कुपोषण से पीड़ित लोगों को खान-पान में भरपूर मात्रा में विटामिंस और मिंरल्सयुक्त आहार लेने की जरूरत होती है.

बैलेंस्ड डाइट है हर बीमारी का इलाज. यह एक ऐसा विकल्प है जो किसी भी दवा से कम नहीं है.

जानिए ऐसे में किन चीजों को करें खाने में शामिल: 
– टीबी के मरीजों को खाने में विटामिन A और C से भरपूर हर चीज शामिल करनी चाहिए जैसे संतरा, आम, पपीता , कद्दू, गाजर, अमरूद, आंवला , टमाटर, नींबू , शिमला मिर्च आदि. 
– रेड मीट, अल्कोहल और हाई-फैट वाली चीजों का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए. 
– कुपोषण से ग्रस्त लोगों को प्रचूर मात्रा में दूध, दही, तरह-तरह के फल और सब्जियां, मीट, मछली, अंडा आदि खाना चाहिए.

खाना जितना ज्यादा हेल्दी होगा, बीमारियां उतनी ही ज्यादा दूर रहेंगी.

 

You may also like

डेंगू से उबरने में यह सब्जी करती है रामबाण का काम

बदलते मौसम और पनपते मच्छरों की वजह से