बिना पैन कार्ड, बिना गारंटर पूरे भारत में कहीं भी लें 10 लाख रुपए का लोन, मोदी सरकार दे रही है

- in कारोबार

इस योजना का उद्देश्य उचित ब्याज दर पर लोन उपलब्ध कराने के रूप में वित्तीय सहायता प्रदान करना है। यह व्यापार लोन के आकार पर निर्भर करती है और उसी के अनुसार पेशकश की जा रही है। इस योजना के तहत 10 लाख रूपये तक का लोन प्रदान किया जाना है।

शिशु लोन, किशोर लोन और तरुण लोन मुद्रा लोन के रूप में वर्गीकृत किये गए हैं। यह मूल रूप देश के गैर कॉर्पोरेट छोटे व्यापारियों के वित्तीय पोषण जरूरतों को पूरा करने के लिए भारत सरकार द्वारा तैयार किया गया उपक्रम है। यह विचार छोटे व्यापारियों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए है क्योंकि भारत में इन्हीं छोटे व्यापार करने वालों की आबादी ज्यादा है।

मुद्रा बैंक लोन योजना यहाँ छोटे संगठन, कम्पनियाँ और स्टार्ट अप्स भारत में इंटरप्रेंयूर्स हैं। इन्हें सामूहिक रूप से सूक्ष्म इकाई माना जाता है। इनके लिए यह महसूस किया गया है कि इन इकाइयों में वित्तीय समर्थन में कमी है। यदि इन्हें वित्तीय सहायता प्रदान की जाये तो उनमें अभी की तुलना में वृद्धी हो सकती है। मुद्रा का पूरा नाम “माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी लिमिटेड” है, यह एक संस्था है जिसे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत सरकार द्वारा स्थापित किया गया है। मुद्रा बैंक मन में केवल एक ही लक्ष्य के साथ स्थापित की गई है वह है गैर कॉर्पोरेट छोटे व्यवसायियों के सभी धन की जरूरतों को पूरा करना।

नीतिगत दिशानिर्देश की तैयारी और शुभारंभ माइक्रो फाइनेंस इंस्टिट्यूशन संस्थानों के पंजीकरण और विनियमन एक क्रेडिट गारंटी योजना को चलाना उन्हें लोन (वित्तीय सहायता) उपलब्ध कराने से सूक्ष्म व्यापार की सेवा के लिए एक अच्छा आर्किटेक्चर बनाना। इस योजना के तहत मुद्रा बैंक की सभी आवश्यक जिम्मेदारियों और कामकाजों को किया जायेगा। अब लोगों के मन एक बड़ा सवाल यह उठता है कि मुद्रा बैंक लोन का हिस्सा बनने के लिए पात्रता मानदंड क्या है और लोन आवेदन की प्रक्रिया क्या है। अन्य महत्वपूर्ण बातें ब्याद दर और आवेदन पत्र है। लेकिन इस पर जाने से पहले यह अत्यंत महत्वपूर्ण है कि आपके व्यवसाय की श्रेणी क्या है।

मैक्रो यूनिट्स या छोटे व्यवसायों में वृद्धी मंच, विकास और वित्त पोषण आवश्यकताओं को दर्शाने के लिए इसे श्रेणियों में वर्गीकृत किया गया है। शिशु, किशोर और तरुण नाम की तीन श्रेणियों को इस उद्देश्य के लिए बनाया गया है। यहाँ आप देख सकते है कि आपका व्यवसाय किस श्रेणी में आता है इसकी श्रेणियों के बारे में जानकारी नीचे दी गई है

जैसा कि नाम से ही विदित है यह श्रेणी शुरूआती श्रेणी है। वे सभी व्यापार जोकि अभी – अभी शुरू हुए है और लोन के लिए देख रहे है इस श्रेणी में आते है। इस श्रेणी में आने वाले सभी माइक्रो यूनिट्स के लिए 50,000 रूपये तक का लोन दिया जायेगा। शिशु श्रेणी के लिए ब्याज दर 10 से 12 % तक की रेंज में है। किशोर श्रेणी – यह उनके लिए है जिन्होंने अपना कारोबार शुरू किया है और अब वह प्रतिष्ठित हो रहा है। इस श्रेणी में आने वाली यूनिट्स के लिए 50,000 रूपये से लेकर 5 लाख रूपये तक का लोन देने का प्रावधान है। किशोर श्रेणी के लिए ब्याज दर 14 से 17% तक की रेंज में है।

वे सभी छोटे कारोबार जो स्थापित हो कर प्रतिष्ठित हो गये है इस श्रेणी के अंतर्गत आते है। उनको उनके व्यापार को बेहतर करने में कुछ वित्तीय आवश्यकता हो सकती है। इसलिए वे सभी छोटे करोबारी इस श्रेणी के अंतर्गत आते हुए 10,00,000 रूपये तक का लोन लेने के लिए पात्र हैं। तरुण श्रेणी के लिए ब्याज दर 16 % से शुरू होती है।

मुद्रा लोन का उपयोग कर 50,000 रूपये से 10 लाख के बीच वित्त पाने में सक्षम हो सकते है। बिना किसी प्रक्रिया शुल्क और बिना किसी परेशानी के लोन प्राप्त कर सकते हैं। मुद्रा लोन मुख्य रूप से छोटे और सूक्ष्म स्तर के कारोबार पर ध्यान केन्द्रित करने के बजाय बड़े पैमाने के करोबार पर ध्यान देने के लिए है। मुद्रा लोन पर ब्याज दर अन्य बैंकर की ब्याज दर की तुलना में बहुत कम और सस्ती है। Eligibility Criteria for Mudra Loan for Applicants & loaners | आवेदकों और लोन लेने वालों के लिए मुद्रा लोन के लिए पात्रता मानदंडवे सभी गैर खेती सूक्ष्म व्यवसायी जिनको आय सृजन और 10 लाख रूपये के ऊपर या नीचे आर्थिक सहायता की आवश्यकता होती है, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत इस लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं यह माइक्रो यूनिट्स विकास और पुनर्वित्त एजेंसी योजना के तहत शुरू की गई है।

भाग लेने वाले बैंक अर्थात वे बैंक जोकि मुद्रा लोन की पेशकश करने के लिए तैयार हैं उनका सख्त पात्रता मानदंड है। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों, राज्य सहकारी बैंकों, माइक्रो फाइनेंस संसथानों, गैर – बैंकिंग वित्तीय कम्पनियों और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों को इसमें भाग लेने के लिए और मुद्रा लोन प्रदान करने के लिए अनुमति दी गई है। हालाँकि उन्हें यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि-

उनके पास सीधे 3 साल के लिए लाभ रिकॉर्ड हैं। उनके पास 3% या उससे कम NPAs हैं। उनके पास कम से कम 9% का CRAR है। उनके पास कम से कम 100 करोड़ रूपये की कुल कीमत है। जब तक इन आवश्यकताओं को बैंकों तथा गैर बैंकिंग कंपनियों द्वारा पूरा नही किया जाता, वे किसी भी मुद्रा लोन की पेशकश के लिए पात्र नहीं होंगे।

यह लोन सिर्फ छोटे व्यापारियों के लिए है। इसका कोई सटीक मानदंड नहीं है, लेकिन एक चीज पक्का है कि आपको लोन मिल सकता है यदि आपका कारोबार उच्च हो। इस योजना के लिए एक चीज और है कि यह पढ़ाई के उद्देश्यों के लिए नहीं है। यह लोन आपके घर खरीदने के लिए भी नहीं हो सकता है। आप इससे वाहन खरीद सकते है किन्तु यह भी आपके व्यक्तिगत न हो कर व्यावसायिक हो सकता है। 18 साल से ऊपर की उम्र का कोई भी व्यक्ति मुद्रा लोन ले सकता है।

मुद्रा बैंक लोन योजना के लिए एप्प्लाई करने का तरीका यहाँ सभी श्रेणियों अर्थात शिशु, किशोर और तरुण के लिए मुद्रा बैंक लोन योजना को लागू करने के बारे में जानकारी दी गई है। आपको इसमें एप्प्लाई करने से पहले एक व्यापर विचार तैयार करना होगा, एवं आपको आवेदन पत्र के साथ अपने व्यापार विचार को पेश करना पड़ेगा। सबसे पहले उधारकर्ता (जो लोन लेना चाहता है) को प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत अपने नजदीकी निजी या व्यावसायिक बैंक में जाने की जरुरत है। इसके बाद लोन आवेदन के साथ अपने व्यापर विचार को प्रस्तुत करें (यह फॉर्म में दिया जायेगा),

और आवेदन फॉर्म के साथ ही अपनी पहचान का प्रमाण, अपने पते का प्रमाण और हालहि के पासपोर्ट के आकर की फोटो को उपलब्ध कराने की जरूरत है। सभी औपचरिकताएँ बैंक के निर्देश के अनुसार उधारकर्ता द्वारा भरी जानी है। उपरोक्त चरणों के पूरा होने के बाद, लोन मंजूर किया जायेगा और लोन साधक को उपलब्ध कराया जायेगा। Mudra loan for women ST, SC and OBC | ST, SC और OBC महिलाओं के लिए मुद्रा लोन सरकार ने स्पष्ट किया है कि इस योजना के तहत अनुसूचित जाति, जनजाति और अन्य पिछड़े वर्ग श्रेणी की महिलाओं के लिए लोन देने की प्राथमिकता दी जाएगी। हालाँकि वहाँ इस तरह का कोई आरक्षण नहीं है यहाँ तक कि इस बारे में किसी भी प्रकार के मापदंड का खुलासा नहीं किया गया है। लेकिन यह सुविधा बाद में उपलब्ध कराई जा सकती है।

एक हाथ से जब यह कार्ड एक पूर्व स्वीकृत लोन राशि के साथ एक क्रेडिट कार्ड के रूप में कार्य करता है, उसी समय यह डेबिट कार्ड की तरह भी कार्य करता है। मुद्रा कार्ड, रूपये प्लेटफार्म के साथ काम करेगा और यह पॉइंट ऑफ़ सेल के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। कार्ड उपयोगकर्ताओं के लिए निम्न अनुमति है- एटीएम से पैसे निकाल सकते हैं। पॉइंट ऑफ़ सेल पर कार्ड स्वाइप कर सकते हैं। अधिक पैसे निकालनी की सुविधा के लाभ के लिए क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कर सकते हैं। कुछ बैंक जिनमें मुद्रा कार्ड की अनुमति दी गई है वे हैं- सहकारी बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, अल्लाहाबाद बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, केनरा बैंक, एक्सिस बैंक, स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया और विजय बैंक आदि। इसके अलावा और भी बैंकों में यह कार्ड जल्द ही लागू किया जा सकता है।

मुद्रा लोन योजना से जुड़ी कुछ मुख्य बातें इससे जुड़ी कुछ मुख्य बातें इस प्रकार हैं-
1- योजना का नाम मुद्रा लोन योजना
2- पूरा नाम माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी लिमिटेड
3- योजना लोंच तारीख 8 अप्रैल 2015
4- योजना की गई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा।
5- लोन राशि 50,000 रूपये से लेकर 10 लाख तक 6। योजना का दायरे पूरे भारत में

loading...

You may also like

PNB को लगा बड़ा झटका, विलफुल डिफॉल्ट की रकम बढ़कर 15,490 करोड़ रुपये पर पहुंची

नई दिल्ली । पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) से कर्ज