पीएम मोदी की बढ़ती लोकप्रियता से डरकर सपा-बसपा हुए एक: केशव

नजदीक आ रहे हैं। मौर्य ने कहा कि भाजपा और उसके नेता मोदी की लोकप्रियता से घबराकर सपा, बसपा को गठबंधन के लिए मजबूर होना पड़ा है। दोनों दलों में घबराहट इस कदर है कि उन्होंने अपनी अपनी पार्टी के हर सिद्धान्त को परे रख दिया और एक दूसरे का साथ निभाने के तैयार हो गए।

उनका दावा था कि दलित और पिछड़े भाजपा के साथ हैं। क्योंकि भाजपा सबका साथ-सबका विकास में विश्वास करती है। उन्होंने कहा कि जातिवादी राजनीति करने वालों को राष्ट्रवाद और विकास की राजनीति के सामने कोई जगह नहीं मिल रही है। इस कारण से वे बेमेल गठबंधन को भी तैयार हो गए हैं। सपा, बसपा के गठबंधन को लेकर बेपरवाह मौर्य ने कहा कि सपा और बसपा के वोट बैंक का बहुतायत हिस्सा भाजपा के साथ है। अति दलित और अतिपिछड़े भाजपा के समर्थक हो गए हैं।

आज सुलतानपुर पहुंचेगा जम्मू-कश्मीर में शहीद जवान का पार्थिव शरीर, शोक में डूबा पूरा गांव

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि सपा, बसपा में गठबंधन को लेकर बड़ी बेचैनी साबित करती है कि भाजपा की ताकत लगातार बढ़ रही है। समाज में जागृति आई है। राष्ट्रवाद, विकासवाद और सुशासन भाजपा की ताकत है। अयोध्या के सम्बन्ध में पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा कि मामला उच्चतम न्यायालय में है। इसलिए वह सीधे कोई टिप्पणी नहीं कर सकते, लेकिन यह सर्वविदित है कि हर व्यक्ति की इच्छा है कि अयोध्या में राम का भव्य मंदिर बने।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश विकास के पथ पर तेजी से बढ़ रहा है। सरकार गरीबों, पिछडों, दलितों और समाज के अन्य वर्गों के हित में लगातार निर्णय ले रही है। अपराधी भाग रहे हैं। कानून व्यवस्था ठीक हो गई है। सज्जन लोग चैन से रह रहे हैं। आने वाले दिनों में निवेश बढ़ेगा। नौकरियां मिलेंगी और नौजवान खुशहाल होंगे।

You may also like

वाराणसी में ‘पूर्वाचल’ राज्य की मांग कर रही महिला ने बस में लगाई आग

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में ‘पूर्वाचल’ राज्य की मांग को लेकर