WHO ने किया दावा, ये 8 वैक्सीन से बच सकेगे कोरोना के मरीज…

WHO (वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन) के चीफ टेडरोज अधनोम गेब्रेयेसस ने सोमवार को कहा कोरोना वायरस से मुकाबले के लिए वैक्सीन के लगभग 7-8 टॉप कैंडीडेट्स हैं जिन पर तेजी से काम हो रहा है.

स्वास्थ्य संगठन के डायरेक्टर जनरल ने यूएन इकोनॉमिक और सोशल काउंसिल की वीडियो ब्रीफिंग में कहा, ‘कोरोना वैक्सीन की उपलब्धता लेकर दो महीने पहले 12 से 18 महीने तक का अंदाजा लगाया जा रहा था. लेकिन महामारी के इस दौर में बड़ी तेजी से काम हुआ है.’

टेडरोज ने कहा, ‘वायरस के रिसर्च, इलाज और टेस्टिंग के लिए 40 देशों के नेताओं, संगठनों और बैंकों ने एक सप्ताह में करीब 60 हजार करोड़ रुपये (8 अरब डॉलर) की मदद की है.’ हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि वैक्सीन पर होने वाले खर्च को देखते हुए यह राशि काफी नहीं है.

टेडरोज ने कहा कि वैक्सीन पर तेजी से काम करने के लिए हमें और रुपयों की जरूरत होगी. वैक्सीन डेवलप होने के बाद उसका भारी मात्रा में प्रोडक्शन भी करना होगा ताकि दुनिया के किसी भई कोने में कोई व्यक्ति इससे अछूता न रह जाए.

टेडरोज ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कहा, ‘मौजूदा समय में हमारे पास तकरीबन 100 वैक्सीन कैंडीडेट्स हैं, जिनमें से 7 या 8 से ज्यादा बेहतर परिणाम की उम्मीद की जा सकती है. सभी अच्छे रिजल्ट्स देने वाली सभी 7-8 वैक्सीन पर तेजी से काम हो रहा है.’

हालांकि शीर्ष वैक्सीन में कौन से विकल्प को चिह्नित किया गया है इसके बारे में टेडरोज ने कोई जानकारी नहीं दी है. उन्होंने कहा, ‘WHO दुनियाभर में हजारों शोधकर्ताओं के साथ मिलकर एनिमल मॉडल विकसित करने से लेकर क्लीनिकल ट्रायल्स को डिजाइन करने के लिए तेजी से काम कर रहा है.’

टेडरोज ने बताया कि वैक्सीन की खोज और डायग्नोस्टिक्स के लिए 400 से ज्यादा वैज्ञानिकों का एक समूह भी काम कर रहा है. WHO के चीफ ने कहा कि कोराना एक बेहद खतरनाक वायरस है जिसकी चपेट में अब तक 40 लाख से ज्यादा लोग आ चुके हैं और करीब 2,75,000 से ज्यादा की मौत हो चुकी है.

टेडरोज ने बताया कि पश्चिमी यूरोप में कोरोना के मामलों में गिरावट आई है, लेकिन पूर्वी यूरोप, अफ्रीका, साउथ-ईस्ट एशिया, पूर्वी भू-मध्य सागर और कुछ अन्य प्रांतों में अब यह तेजी से बढ़ रहा है.

टेडरोज ने कहा कि इस महामारी ने पूरी दुनिया को दर्दनाक सबक सिखाया है. खासतौर से बताया है कि हमें एक मजबूत राष्ट्र के साथ-साथ अपने हेल्थ सिस्टम को दुरुस्त करने की कितनी जरूरत है.

बता दें कि इज्राइल और इटली ने पिछले सप्ताह ही कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने में सफलता हासिल करने की बात कही थी. कोरोना की वैक्सीन सामने आने में अभी कितना वक्त लग जाएगा इसका सिर्फ अंदाजा ही लगाया जा रहा है.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button