विराट कोहली पहले ही ‘महानतम’ बनने के करीब: धोनी

- in खेल

मुंबई। विराट कोहली के उदीयमान युवा क्रिकेटर से मंझा हुआ बल्लेबाज बनने के दौरान भारतीय टीम के कप्तान रहे महेंद्र सिंह धोनी ने आज उनकी जमकर तारीफ की. धोनी ने कहा कि विराट कोहली ने पिछले कुछ सालों में जो लाजवाब प्रदर्शन किया है उससे वह पहले ही ‘महानतम’ बनने के करीब पहुंच गए हैं.विराट कोहली पहले ही ‘महानतम’ बनने के करीब: धोनी

विराट महानतम बनने के करीब

धोनी ने यहां एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि वह (कोहली) सर्वश्रेष्ठ है और पहले ही उस मुकाम पर पहुंच चुका है जहां वह महानतम बनने के करीब है. इसलिए मैं उसके लिए बहुत खुश हूं. और जिस तरह से वह पिछले कुछ सालों में हर देश में अच्छा प्रदर्शन कर रहा है वह लाजवाब है.

इस पूर्व कप्तान ने एक समय उनके साथ उप कप्तान रहे कोहली की बल्लेबाजी की जमकर तारीफ की. कोहली ने अपनी शुरुआती क्रिकेट धोनी की कप्तानी में खेली और एक प्रतिभाशाली किशोर से विश्व के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज बने. इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में अपनी 149 रन की पारी से भारतीय कप्तान ने आखिरी किला भी फतह कर दिया. धोनी को खुशी है कि कोहली टीम को आगे लेकर जा रहे हैं. धोनी ने कहा कि वह टीम को आगे लेकर जा रहा है और आप एक नेतृत्वकर्ता से यही चाहते हो. इसलिए उसको मेरी शुभकामनाएं.

भविष्य पर लग रही अटकलबाजियों को विराम

इस स्टार विकेटकीपर बल्लेबाज ने अपने क्रिकेट भविष्य को लेकर लग रही अटकलबाजियों को भी विराम देते हुए साफ किया कि इंग्लैंड में 2019 में होने वाले विश्व कप तक वह कोई फैसला नहीं करने जा रहे हैं. इंग्लैंड के खिलाफ पिछले महीने अंतिम वनडे के बाद धोनी ने मैच गेंद देने के लिये कहा था और तब से उनके संन्यास को लेकर अटकलें लगायी जा रही थी लेकिन उन्होंने आज खुलासा किया कि वह अगले साल की महत्वपूर्ण प्रतियोगिता के लिए तैयारी कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि मैंने गेंद इसलिए मांगी क्योंकि मैं यह देखना चाहता था कि हम पर्याप्त रिवर्स स्विंग क्यों हासिल नहीं कर पाए. अगले साल हमें इंग्लैंड में विश्व कप खेलना है और हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हमें रिवर्स स्विंग मिले क्योंकि यह महत्वपूर्ण है. अगर विरोधी टीम को रिवर्स स्विंग मिलती है तो हमें भी मिलनी चाहिए. धोनी ने कहा कि पारी खत्म होने के बाद आईसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) के लिए गेंद अनुपयोगी हो जाती है इसलिए मैंने अंपायर से अनुरोध किया कि क्या मैं गेंद ले सकता हूं और उसे गेंदबाजी कोच को थमा दिया.

टेस्ट सीरीज में जीत का मंत्र

धोनी से पूछा गया कि पहला टेस्ट मैच गंवाने के बाद भारत कैसे टेस्ट सीरीज जीत सकता है, उन्होंने कहा, मैं आपसे एक बात कहूं, टेस्ट मैच जीतने के लिए आपको 20 विकेट लेने होते हैं. हमने (भारत) ऐसा किया. इसलिए मैं आपको केवल यही जवाब दे सकता हूं क्योंकि यह मायने नहीं रखता कि आपने कितनी अच्छी बल्लेबाजी की, आपने पांच दिन कितने अच्छे बिताए. आप 20 विकेट लेने पर ही टेस्ट मैच जीत सकते हैं. धोनी ‘रन एडम’ ऐप की शुरुआत के अवसर पर बोल रहे थे जिसके 25 प्रतिशत शेयर उन्होंने खुद लिए हैं. वह इसके ब्रांड एंबेसडर और मेंटर होंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पैदल चाल प्रतियोगिता 2 अक्तूबर को

राज्यमंत्री स्वाती सिंह सुबह 7 बजे करेंगी पैदल