उत्तराखंड: भर्ती धांधली मामले में अबतक 17 लोग हो चुके हैं गिरफ्तार, 56 लोगों की हो चुकी हैं पहचान

स्नातक स्तरीय परीक्षा घपले में सरकार अब तक आक्रामक नजर आ रही है। सीएम के आदेश पर गठित एसआईटी अब तक 17 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है, जबकि अब तक 56 से अधिक ऐसे लोगों की पहचान हो चुकी है, जिन्होंने नकल की है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पहले ही इस मामले में दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की बात कह चुके हैं

स्नातक स्तरीय भर्ती विवाद में सीएम ने 23 जुलाई को एसआईटी जांच के आदेश दिए थे। इसके बाद पुलिस लगातार धरपकड़ करते हुए, अब तक 17 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। साथ ही लाखों रुपए भी जब्त किए जा चुके हैं। एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह के नेतृत्व में पुलिस रोज ही किसी ना किसी आरोपी को गिरफ्तार कर रही है।

इसमें सरकारी कर्मचारी भी शामिल है। सरकार के सख्त आदेश के चलते अब तक एसटीएफ भी फुल फॉर्म मे है। हालांकि अब तक कोई बड़ा नाम एसटीएफ के हत्थे नहीं चढ़ पाया है। लेकिन सरकार के तेवरों को देखते हुए,जल्द बड़े नाम भी लपेटों में आ सकते हैं।

विजिलेंस जांच में भी नजर आई तेजी
धामी सरकार भ्रष्टाचार के मामलों में लगातार सख्त रुख अपना रही है। इससे पूर्व आईएएस रामबिलास यादव के खिलाफ ना सिर्फ विजिलेंस ने मुकदमा दर्ज किया, बल्कि वो रिटायरमेंट से ठीक पहले गिरफ़्तार कर लिए गए। रामबिलास इस समय जेल में ही बंद हैं। साथ ही सरकार कार्बेट पार्क में हुए घपले को लेकर दो आईएफएस निलंबित किए जा चुके हैं, जबकि एक के खिलाफ विजिलेंस जांच के आदेश हो चुके हैं।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button