UPCM और राज्यपाल ने पूर्व PM-स्व. लाल बहादुर शास्त्री की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की

उत्तर प्रदेश।
UPCM और राज्यपाल राम नाईक ने पूर्व प्रधानमंत्री स्व. लाल बहादुर शास्त्री की जयंती के अवसर पर शास्त्री भवन स्थित उनकी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की।
इस अवसर पर राज्यपाल ने कहा कि आज राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी और पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती है। पूरा देश गाँधी जी की 150वीं जयंती मना रहा है। इस ऐतिहासिक अवसर पर दो वर्ष के कार्यक्रमों की रूपरेखा तय की गई है।
पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री को श्रद्धांजलि देते हुये राज्यपाल ने कहा कि शास्त्री जी सादगी की प्रतिमूर्ति थे। वे एक कुशल प्रशासक भी थे। एक रेल दुर्धटना होने पर उन्होंने इसके लिए नैतिक जिम्मेदारी लेते हुये रेल मंत्री के पद से त्यागपत्र देकर नया इतिहास रचने का कार्य किया था।
प्रधानमंत्री के रूप में शास्त्री जी ने युद्ध काल में देश का नेतृत्व करते हुये सैनिकों और देशवासियों के मन में दृढ़ इच्छा शक्ति जागृत की थी। उस समय देश खाद्यान्न संकट का सामना कर रहा था। अन्न की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के लिए लाल बहादुर शास्त्री के आह्वान पर देशवासियों ने सप्ताह में एक दिन का उपवास रखना प्रारम्भ किया।
राज्यपाल ने कहा कि उत्तर प्रदेश सर्वोत्तम प्रदेश बनने की स्थिति में आ गया है। प्रदेश को विकास की राह पर और आगे ले जाने के लिए सभी के द्वारा आज संकल्प लिया जाना, लाल बहादुर शास्त्री के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
UPCM ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने आजादी की लड़ाई में अग्रणी भूमिका निभाई। उन्होंने देश को यशस्वी नेतृत्व भी प्रदान किया। इसलिए देश उनका पुनः-पुनः स्मरण करता है। विगत दिनों राज्यपाल जी के साथ रामनगर, वाराणसी में शास्त्री जी के पैतृक आवास के संग्रहलय के तौर पर लोकार्पित किये जाने का उल्लेख करते हुये UPCM ने कहा कि शास्त्री जी ने अत्यंत विषम परिस्थितियों में भी अपना अध्ययन जारी रखा।
UPCM ने कहा कि लाल बहादुर शास्त्री सार्वजनिक जीवन में नैतिकता का उदाहरण हैं। उनके यशस्वी नेतृत्व में देश खाद्यान्न संकट से उबरा और वर्ष 1965 के युद्ध में पाकिस्तान को बुरी तरह परास्त कर देश ने शौर्य और पराक्रम का लोहा मनवाया। उन्होंने कहा कि शास्त्री जी सादगी की प्रतिमूर्ति थे। गाँधी जी के स्वदेशी व स्वालम्बन के विचारों के वे वास्तविक नेता थे। उन्होंने कहा कि शास्त्री जी के आदर्शों से प्रेरणा लेकर देश के लिए कार्य करना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
इससे पूर्व, मुख्य सचिव डाॅ. अनूप चन्द्र पाण्डेय ने अपने सम्बोधन में महात्मा गांधी एवं शास्त्री जी को श्रद्धांजलि अर्पित की।
इस अवसर पर UP_Dy_CM डाॅ. दिनेश शर्मा, राज्य सरकार के मंत्री रमापति शास्त्री, राजेश अग्रवाल, सिद्धार्थनाथ सिंह, रीता बहुगुणा जोशी, धर्मपाल सिंह, स्वामी प्रसाद मौर्य, डाॅ. महेन्द्र सिंह, स्वतंत्र देव सिंह, स्वाती सिंह, मोहसिन रजा सहित अन्य जनप्रतिनिधि और वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित रहे।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button