नीतीश कुमार के इस कदम से, बिहार की राजनीति में मची हलचल…

आरसीपी सिंह के जेडीयू से इस्तीफे के बाद बिहार में राजनीतिक घमासान मचा हुआ है। इस बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जेडीयू सांसदों की बैठक बुलाई है। पार्टी के सभी सांसदों को सोमवार शाम तक पटना आने के लिए कहा गया है। इस बैठक में जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह भी मौजूद रहेगा। बैठक का विषय अभी सार्वजनिक नहीं किया गया है। इसमें बीजेपी का साथ गठबंधन के भविष्य को लेकर चर्चा हो सकती है। 

दूसरी ओर मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जेडीयू नेता और बिहार के शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने कहा है कि उनकी पार्टी केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होगी। उनका कहना है कि नरेंद्र मोदी कैबिनेट में जेडीयू कोटे से किसी को मंत्री नहीं बनाया जाएगा। इस बारे में नीतीश कुमार पहले ही ऐलान कर चुके हैं। अब भी यह स्टैंड कायम रहेगा।

आरसीपी सिंह ने जेडीयू से अलविदा कहा

पूर्व केंद्रीय मंत्री और जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके आरसीपी सिंह पर पार्टी की ओर से बेहिसाब संपत्ति बनाने के आरोप लगाए गए। इस मामले में उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। इसके बाद शनिवार शाम आरसीपी सिंह ने जेडीयू को अलविदा कह दिया। उनकी नीतीश कुमार से लंबे समय से तकरार चल रही थी। जेडीयू ने आरसीपी सिंह का राज्यसभा टिकट काट दिया और फिर उन्हें केंद्रीय मंत्री पद छोड़ना पड़ा। आरसीपी सिंह केंद्र में जेडीयू कोटे से एकमात्र मंत्री थे।

लोकसभा और विधानसभा चुनाव साथ मिलकर लड़ेगी BJP-JDU?

देश में 2024 में लोकसभा चुनाव होने हैं और इसके एक साल बाद बिहार में विधानसभा चुनाव होंगे। पिछले दिनों केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पटना में बीजेपी के सम्मेलन के दौरान स्पष्ट कर दिया कि आगामी दोनों चुनाव जेडीयू के साथ मिलकर लड़े जाएंगे। हालांकि, जेडीयू नेता गठबंधन के बारे में स्पष्ट रूप से जवाब नहीं दे रहे हैं। हाल ही में राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने कहा कि हम बीजेपी से गठबंधन की बात को नकार नहीं रहे हैं। मगर अभी इस पर बात करने का कोई मतलब नहीं है। जब चुनाव आएंगे तब देखा जाएगा।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button