सैनेटरी नैपकिन को लेकर इस लड़की ने किया ऐसा ट्वीट, कि पीएम मोदी को भी करना पड़ा लाइक

हमारे समाज मे लड़कियों को शुरू से काफी कुछ सहना पड़ा है यही कारण है कि हमारा समाज पिछले कई वर्षों से पुरूष प्रधान समाज बना हुआ था लेकिन अब बहुत कुछ बदल रहा है। महिलाएं शारीरीक रूप से पुरूषों की अपेक्षा काफी कमजोर होती है। वैसे महिलाओं के मासिकधर्म को लेकर कई सारी धारणाएं भी हमारे समाज में जुड़ी है जिसकी वजह से ये धारणाएं उस समय में महिलाओं के कष्‍ट को और ज्‍यादा बढ़ा देती है। कई बड़े शहरों में तो अब ये सारी धारणाएं मानी जाती है।सैनेटरी नैपकिन को लेकर इस लड़की ने किया ऐसा ट्वीट जिसे पीएम मोदी ने भी किया लाइक

वहीं हम सभी ये तो जानते ही है महिलाओं के मासिक धर्म के दौरान सेनेटरी नैपकिन का इस्तेमाल किया जाता है जिससे महिलाओं का स्‍वास्‍थय अच्‍छा रहे। वहीं आपको बता दें कि इसकी चर्चा आजकल पूरे देश में होने लगी है ये एक गंभीर मुद्दा बन चुका है। इतना ही नहीं इस मुद्दे पर अक्षय कुमार ने फिल्‍म बनाकर इसे और ज्‍यादा प्रकाश में लाया है। वहीं दूसरी तरफ हमारे समाज में ऐसी कई महिलाएं दिखने लगी है जिनके अंदर सैनेटरी नैपकिन का प्रयोग करने का आत्‍मविश्‍वास बढ़ गया है।

आज कल लड़कियां या महिलाएं बेझिझक होकर दुकानों से सेनेटरी पैड खरीदती हैं इतना ही नहीं सोशल मीडिया पर भी हो रहे इस चर्चे में खुलेआम महिलाएं हिस्‍सा ले रही हैं। वहीं इसी बीच सेनेटरी नैपकिन पर एक युवती ने कुछ ऐसा ट्वीट किया कि उसका ये पोस्‍ट काफी वायरल हो रहा है। खास बात तो ये है कि इसे पीएम मोदी और रेलमंत्री ने भी लाइक किया है।

दरअसल आपको बता दें कि मिथिला पेंटिंग के माध्यम से अपनी कला का प्रदर्शन करने वाली सहरसा जिले के सहसौल गांव निवासी ऋचा राजपूत ने पीएम मोदी और रेलमंत्री पियूष गोयल को ट्विटर पर ट्वीट कर सभी रेलवे स्टेशन और ट्रेनों में सेनेटरी नेपकिन उपलब्ध कराने की मांग की है। इतना ही नहीं उन्‍होंने अपने ट्विट में लिखा कि ट्रेनों में टीटीई के पास सेनेटरी नैपकिन उपलब्ध होने चाहिए, ताकि जरूरत पड़ने पर किसी लड़की को शर्मिंदा न होने पड़े।

ऋचा ने लिखा कि सफर में केवल एक ही पैड होता है और जब ट्रेन लेट हो जाती है तब काफी परेशानी होती है। ऋचा ने लिखा कि पीरियड बता कर नहीं आती इसलिए ट्रेन में इसकरी व्यवस्था होनी चाहिए, ताकि किसी लड़की को शर्मिंदगी न झेलनी पड़ी। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि पश्चिमी देशों में महिलाएं सेनेटरी नेपकिन पर सरेआम खुलकर बात कर लेती हैं और दुकानो पर भी आसानी से इसकी खरीदारी करती है। इसलिए वहां पुरुष ज्यादा सजग रहते हैं और महिला मित्र या पत्नी का ख्याल रखते हैं।

भारत में अभी स्त्री-पुरुष खुलकर इस पर बात नहीं कर पाते हैं लेकिन समय के साथ साथ अब बहुत कुछ बदल रहा है वहीं जहां भारत देश में ये मान्‍यता थी कि मासिक धर्म दिनों में वे समाज और परिवार से अलग-थलग नहीं रहतीं उन्हीं के बीच रहकर काम भी करतीं हैं। धीरे धीरे ही सही लेकिन ये काफी बड़ा बदलाव है हमारे समाज के लिए।

लड़कियां अब झिझकती नहीं हैं ऋचा का ट्विटर पोस्ट काफी वायरल हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित अन्य ने ट्विटर पर ऋचा के पोस्ट को लाइक और रिट्विट भी किया है। वहीं ऋचा ने बताया कि वह पैड इस्तेमाल के लिए जागरूकता अभियान चला रही हैं जो आगे भी जारी रहेगा।

 
Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button